आंध्र परिधान कारखाने में गैस रिसाव के बाद 100 कर्मचारी हुए बीमार

पिछले दो महीनों में लगभग 300 महिलाओं के अस्वस्थ होने के बाद दो महीने से भी कम समय में अचुतापुरम की ब्रैंडिक्स इंडिया अपैरल कंपनी (BIAC) में इस तरह की यह दूसरी घटना है।

आंध्र प्रदेश के अनाकापल्ले जिले में एक परिधान कारखाने में काम करने वाली 100 से अधिक महिलाएं मंगलवार को कुछ जहरीली गैस के कारण बीमार हो गईं, जिसका स्रोत और कारण अभी पता नहीं चल पाया है।

पिछले दो महीनों में लगभग 300 महिलाओं के अस्वस्थ होने के बाद दो महीने से भी कम समय में अचुतापुरम की ब्रैंडिक्स इंडिया अपैरल कंपनी (BIAC) में इस तरह की यह दूसरी घटना है।

बता दें कि मंगलवार को BIAC में 4000 से अधिक महिलाएं कार्यरत थीं। प्रभावित लोगों ने मतली, सिरदर्द, खांसी और दम घुटने की शिकायत की  वहीं, कुछ महिलाएं बेहोश हो गईं और शुरू में उन्हें पास के अस्पतालों में ले जाने से पहले कारखाने में इलाज किया गया। इनकी हालत स्थिर बताई जा रही है। ये भी बता दें कि 3 जून को इस तरह की पिछली घटना में बीमार पड़ने वाली 300 महिलाओं में से कुछ गर्भवती भी थीं। जिसके लिए जांच भी की गई लेकिन गैस रिसाव के कारणों के बारे में अभी तक कोई जानकारी नहीं मिल पाई है।

वहीं कंपनी ने कहा, मंगलवार को, ब्रैंडिक्स इंडिया अपैरल ने एक बयान में कहा कि कुछ श्रमिकों ने अजीब गंध की शिकायत की थी और उन्हें “एहतियात” के रूप में अस्पताल ले जाया गया था। “हमारे सहयोगियों की सुरक्षा और भलाई काफी महत्वपूर्ण है और हमने उन सभी को वहां से निकाल लिया है। प्रभावित सहयोगी स्थिर स्थिति में हैं।”

अनाकापल्ले के पुलिस प्रमुख गौतमी साली ने इकाई का निरीक्षण किया और कहा कि “दुर्घटना” के कारण का अभी पता नहीं चल पाया है। इससे पहले जून में, आंध्र सरकार द्वारा संचालित औद्योगिक परिसर के अंदर स्थित निजी लैब, पोरस लेबोरेटरीज प्राइवेट लिमिटेड ने रिसाव के बाद संचालन को रोकने के लिए कहा था।