135 करोड़ लोग हंस रहे हैं…’: वीपी जगदीप धनखड़

धनखड़ ने बार-बार आदेश की अपील की और ‘बहुत खराब उदाहरण’ की चेतावनी देते हुए आंदोलनकारी विधायकों को फटकार लगाई।

राज्यसभा के सभापति जगदीप धनखड़ ने मंगलवार को सत्तारूढ़ भारतीय जनता पार्टी के सांसदों और विपक्ष के सांसदों के बीच हुई तकरार पर निराशा व्यक्त की। बता दें कि कांग्रेस प्रमुख मल्लिकार्जुन खड़गे के विवादास्पद ‘क्या आपका कुत्ता भी देश के लिए मर गया’ कहने पर विरोध शुरू हो गया था – उपराष्ट्रपति ने ‘अनियंत्रित दृश्यों और अराजक व्यवहार’ पर शोक व्यक्त किया और सांसदों से सदन की मर्यादा बनाए रखने का आग्रह किया।

धनकड़ ने कहा कि दोनों तरफ यह सदन अभिव्यक्ति का मंच है। इस सदन को बाहर की हर चीज पर विचार करना है और उस पर ध्यान देना है… यहां बोली जाने वाली हर चीज का वजन होता है। जो कोई भी कुछ कहना चाहता है उसे नियमों का सहारा लेना चाहिए।”

वहीं इससे पहले आज, जब राज्यसभा दिन के एजेंडे के लिए तैयारी कर रही थी, खड़गे की टिप्पणी के खिलाफ ट्रेजरी बेंच के सांसदों के खड़े होने पर विरोध शुरू हो गया। धनखड़ ने बार-बार आदेश की अपील की और ‘बहुत खराब उदाहरण’ की चेतावनी देते हुए आंदोलनकारी विधायकों को फटकार लगाई।