Home शिक्षा पीडब्‍ल्‍यू के 47 स्‍टूडेंट्स एआईआर 1000 में और 900 स्‍टूडेंट्स एआईआर 10,000...

पीडब्‍ल्‍यू के 47 स्‍टूडेंट्स एआईआर 1000 में और 900 स्‍टूडेंट्स एआईआर 10,000 में रहे

शिक्षकों समेत सभी सम्‍बंधित लोगों ने स्‍टूडेंट्स की इस सफलता का धमाकेदार जश्‍न मनाया। इवेंट में रैंकर्स ने अपनी सफलता की कहानियाँ सुनाईं, अपनी चुनौतियों के बारे में बताया और यह भी पता चला कि उन्‍होंने जेईई एडवांस्‍ड में सफल होने के लिये उन चुनौतियों का सामना कैसे किया।

नई दिल्‍ली। नेशनल टेस्टिंग एजेंसी (एनटीए) ने 11 सितंबर को शैक्षणिक सत्र 2022-23 के लिये जेईई एडवांस्‍ड 2022 के परिणाम जारी किये। पीडब्‍ल्‍यू के स्‍टूडेंट्स ने एनईईटी 2022 में शानदार सफलता के बाद इस साल की जेईई एडवांस्‍ड में भी बाजी मारी है। पीडब्‍ल्‍यू के शिक्षकों द्वारा प्रशिक्षित 2100 से ज्‍यादा स्‍टूडेंट्स ने स्‍तर को ऊँचा करते हुए जेईई एडवांस्‍ड 2022 में जलवा दिखाया। इनमें से 47 स्‍टूडेंट्स ने अंडर 1000 में और 900 स्‍टूडेंट्स ने अंडर 10,000 में अपनी जगह बनाई।

टॉप रैंकर्स हैं संस्‍कार शौर्या (एआईआर 35), कनिष्‍क शर्मा (एआईआर 58), नवनीत कुमार ठाकुर (एआईआर 80), हिमांशु शेखर (एआईआर 101), ध्रुव गुप्‍ता (एआईआर 118), देबराज कर्माकर (एआईआर 145), अभिषेक खण्‍डेलवाल (एआईआर 209)। यह सभी रैं‍कर्स पीडब्‍ल्‍यू के टॉप बैचेस जैसे प्रयास, लक्ष्‍य, लक्ष्‍य जेईई, लक्ष्‍य जेईई 2.0, प्रयास 2.0, मंजिल और मंजिल फॉर जेईई एडवांस्‍ड के हैं। इनके अलावा मंजिल बैच के विग्‍नेश गाइकोटी ने जीईएन-ईडब्‍ल्‍यूएस-पीडब्‍ल्‍यूडी कैटेगरी में रैंक 1 पाई और पीडब्‍ल्‍यू के ट्रैक रिकॉर्ड में एक और शानदार उपलब्धि जोड़ दी।

पीडब्‍ल्‍यू के स्‍टूडेंट संस्‍कार शौर्या ने कहा- “’जेईई एडवांस्‍ड में सफल होना इंजीनियरिंग के हर उम्‍मीदवार का सपना होता है। आज मैं इस उपलब्धि को पाकर बहुत खुश हूँ। इसका पूरा धन्‍यवाद पीडब्‍ल्‍यू के टीचर्स को जाता है, जिन्‍होंने अभ्‍यास और तैयारी की पूरी यात्रा में मुझे सहयोग और मार्गदर्शन दिया। उनके बिना मैं यह नहीं कर पाता। मैं अपने पेरेंट्स को भी धन्‍यवाद देता हूँ, जिन्‍होंने मुझे कड़ी मेहनत करने और कभी हार न मानने के लिये प्रोत्‍साहित किया।” पीडब्‍ल्‍यू के संस्‍थापक एवं सीईओ अलख पांडे ने कहा, “जेईई एडवांस्‍ड में सफल होना कठिन है। फिर भी हमारे स्‍टूडेंट्स ने यह कर दिखाया और हम सभी को गौरवान्वित किया। इससे साबित होता है कि विद्यार्थी कठिन प्रतियोगी परीक्षाओं में अच्‍छे अंक ला सकते हैं, अगर उन्‍हें सही मेंटर्स से सहयोग मिले। मैं सारे रैंकर्स को बधाई और भविष्‍य के प्रयासों के लिये शुभकामना देना चाहता हूँ।”

पीडब्‍ल्‍यू के चीफ एकेडमिक ऑफिसर (सीएओ) रोहित गुप्‍ता ने कहा- “यह पीडब्‍ल्‍यू में हम सभी के लिये सम्‍मानजनक क्षण है। अपने स्‍टूडेंट्स के ऐसे बेहतरीन परिणाम देखकर हमें गर्व है। इससे उनके लिये हमारी मेहनत और समर्पण भी दिखता है। हम कड़ी मेहनत करते रहेंगे और नई ऊँचाइयों को लक्ष्‍य में रखेंगे।”

Exit mobile version