कोरोना के दौरान में यूपी में डेंगू से 7 बच्चों की मौत

कोरोना के संक्रमण में कमी आई, तो राज्य सरकार अपनी पीठ थपथपा रही है। जैसे ही मथुरा में बीते 8 दिन में 7 बच्चों की मौत डेंगू से होने की खबर आई, राज्य के स्वास्थ्य सेवाओं को लेकर सवाल उठने लगे हैं।

मथुरा। उत्तर प्रदेश सरकार भले ही कोरोना से जंग जीतने की बात करती हो और राज्य के आला अधिकारी कहते हों कि कोरोना को लेकर राज्य में स्थिति काबू में है। लेकिन राज्य के एक जिला में बीते एक सप्ताह में केवल डेंगू से हुए 7 बच्चों की मौत ने प्रशासन और स्वास्थ्य सेवाओं की पोल खोलकर रख दी है।

इस संदर्भ में मथुरा के जिलाधिकारी नवनीत सिंह चहल की ओर से कहा गया है कि छोटी उम्र के बच्चों से लेकर 19 साल तक के बच्चों की डेंगू से मृत्यु हुई है। हमें उम्मीद है कि जागरूकता और लोगों के सहयोग से हम इस बीमारी पर काबू पा लेंगे।

स्थानीय लोगों में आक्रोश है। उनका कहना है कि स्वास्थ्य विभाग को डेंगू के खिलाफ अभियान चलाना चाहिए। सरकारी अस्पतालों में समुचित देखभाल की व्यवस्था होनी चाहिए।

यदि हम उत्तर प्रदेश में कोरोना की बात करें, तो राज्य के स्वास्थ्य विभाग की ओर से जानकारी दी गई है कि नोएडा में आज से कक्षा 6वीं से 8वीं के छात्रों के लिए स्कूल खुल गए हैं। कोविड दिशानिर्देशों का पालन करना अनिवार्य है। कल प्रदेश में 7,37,276 कोविड वैक्सीन की डोज़ लगाई गई। अब तक कुल 5,40,26,148 लोगों को कोविड वैक्सीन की पहली डोज़ लगाई गई और इनमें से 1,02,01,807 लोगों को कोविड वैक्सीन की दूसरी डोज़ लगाई गई।