पाबंदी हटते ही सड़कों पर दिखाई पड़ी खूब भीड़, जुहू बीच पर दिखे मुंबईवासी

मुंबई में दैनिक मामले कम हुई, तो प्रशास ने छूट दी। रविवार को छुट्टी थी, कई जगहों पर लोगों का जमावड़ा दिखा। कई स्थानों में बिना मास्क के लोग दिखे। निर्धारित दूरी की तो पूछिए ही मत। अब चिंता यह है कि यदि ऐसी ही लापरवाही रही, तो तीसरी लहर तय है।

मुंबई। कोरोना संक्रमण में कमी देखते हुए राज्य प्रशासन की ओर से छूट दी गई। इसका असर मुंबई के कई सार्वजनिक स्थलों पर दिखा। मरीन ड्राइव और जुहू बीच पर पूरे दिन भीड़ दिखी। लोग खुश दिखे। लोगों का कहना है कि यहां आकर काफी अच्छा लग रहा है।

बता दें कि रविवार को मुंबई में पिछले 24 घंटों में कोरोना वायरस के 345 मामले दर्ज़ किए गए। 280 लोग करोना से ठीक हुए और 2 मौतें हुईं। COVID-19 दिशानिर्देशों में ढील के बाद बड़ी संख्या में लोग मुंबई के मरीन ड्राइव पर उमड़ पड़े। एक स्थानीय का कहना है, “मरीन ड्राइव हर मुंबईकर के दिल से जुड़ा है। लोग यहां आकर आराम करते थे। कोविड प्रतिबंधों में ढील के बाद लोग अब स्वतंत्र महसूस कर रहे हैं।”

प्रशासन की ओर से कहा गया है कि लोग सार्वजनिक स्थानों पर जाएं, लेकिन कोविड प्रोटोकॉल का पालन करें। यदि हम आज मुंबई के लोगों की बात करें, तो अधिकतर लोगों ने मास्क नहीं पहना था। निर्धारित दूरी का तो पूछिए ही मत। विशेषज्ञों की चिंता है यदि लोगों ने इसी प्रकार कोरोना के लिए जरूरी दिशा निर्देशों का पालन नहीं किया, तो वह दिन दूर नहीं जब तीसरी लहर आतंक मचाएगी। सरकारी अधिकारियों का कहना है कि प्रशासनिक छूट का मतलब लापरवाही नहीं होता है। लोगों को जरूरी काम से ही अभी कुछ दिन घरों से निकलना चाहिए। यूं ही सैर सपाटा से जितना संभव हो, दूर रहें, तो बेहतर है।