एयरलाइन में सामान को लेकर किए जा रहे कुछ बदलावों के बारे में जानते हैं आप ?

यदि एयरलाइन 21 दिनों के भीतर आपके सामान का पता लगाने में विफल रहती है तो इसे आधिकारिक तौर पर खोया हुआ माना जाता है।

वैसे तो यह सच्चाई है कि 1000 यात्रियों में से एक यात्री ऐसा होता ही है जिसका सामान एयरलाइन द्वारा या तो खराब हो जाता है या फिर खो जाता है। अगर आप आए दिन फ्लाइट से ट्रैवल करते रहते हैं, तो आपको इस बात का शायद अंदाजा होगा कि ऐसी स्थिति में फिर आपके पास जो रह जाता है उसी से पूरा ट्रिप निकालना पड़ता है।

इसी बात को ध्यान में रखते हुए एयरलाइंस ने अपनी गतिविधियों में कुछ बदलाव किए हैं जिससे उनके पैसेंजर्स को उनके सामान को लेकर कोई भी परेशानी ना हों।

अगर आपको अपना सामान कन्वेयर बेल्ट में नहीं मिला, तो उसके खोने के बारे में सोचने से पहले कम से कम आधे घंटे का इंतजार जरूर करें। या फिर आपका सामान आपको मिल गया है, लेकिन सही स्थिति में नहीं है या खराब हो गया है, तो एयरलाइन स्टाफ से तुरंत संपर्क करें और अपने बैग्स के गुम या क्षतिग्रस्त होने की सूचना दें।

बैगेज सर्विस में संपत्ति अनियमितता फॉर्म को भरकर सामान के गुम/क्षतिग्रस्त होने की शिकायत कर सकते हैं। आप उनसे ट्रैकिंग नंबर भी ले सकते हैं इससे ऑनलाइन सामान को ट्रैक करने में मदद मिलेगी।

कोई भी एयरलाइन आपके सामान से जुड़ा कोई भी अप्रत्याशित नुकसान या 24 घंटे से अधिक की देरी के लिए जिम्मेदार है। लेकिन, फिर भी वो पूरी तरह से नुकसान की भरपाई नहीं करते हैं। गुम हुए सामान के लिए पर्याप्त मुआवजे का दावा करने के लिए, आपके पास एयरलाइन को लिखने के लिए अपनी यात्रा की तारीख से सात दिन का समय होता है। बैग खराब होने के मामले में एयरलाइंस बैग की मरम्मत/बदलने की सलाह देती है, लेकिन मुआवजे के लिए, आपको कुछ प्रोफेशनल लेवल की बातचीत करने की आवश्यकता होगी।

यदि एयरलाइन 21 दिनों के भीतर आपके सामान का पता लगाने में विफल रहती है तो इसे आधिकारिक तौर पर खोया हुआ माना जाता है। इस मामले में, आपको अपने गुम हुए सामान के लिए अधिकारियों से लिखित रूप से क्लेम प्राप्त करने की आवश्यकता है। अधिकांश एयरलाइंस आपके खोए हुए सामान में अनुचित मूल्य से लेकर मूल खरीद मूल्य तक कुछ भी नकद या ऑनलाइन के रूप में क्षतिपूर्ति करने में सक्षम होती हैं। एयर इंडिया जैसी एयरलाइंस 24 घंटे से अधिक की देरी के लिए 3000 रुपए तक का भुगतान भी करती है।

एयरलाइंस के सामान को लेकर अपने कुछ नियम होते हैं। जिनमें से कुछ निम्न हैं –

क्षतिग्रस्त सामान – सामान मिलने के बाद 7 दिनों के भीतर

सामान के विलंबित होने पर – फ्लाइट की तारिख तय होने के बाद 21 दिनों तक।

खोया हुआ सामान – जितनी जल्दी हो सके 21 दिन के बेहतर क्लेम करें।