Home लाइफस्टाइल कहींं केमिकल लिपस्टिक से डैमेज तो नहीं हो रहे लिप्स?

कहींं केमिकल लिपस्टिक से डैमेज तो नहीं हो रहे लिप्स?

ये समस्या आम है। इससे निपटने के लिए शहनाज हुसैन के बताए हर्बल टिप्स अपनाएं, यकीनन आपको फायदा मिलेगा।

नई दिल्ली। खूबसूरत दिखना किसे पसंद नहीं। शायद इसीलिए लिपस्टिक लगाना हर महिला की पहली पसंद होती है। लिपस्टिक मेकअप का ऐसा हिस्सा है जिसके बिना पूरे चेहरे के मेकअप को अक्सर अधूरा ही माना जाता है क्योंकि लिपस्टिक लगाने से होंठों की सुंदरता बढ़ जाती है। लिपस्टिक वास्तव में आपके चेहरे पर तुरंत रंग भर देती हैं और मिनटों में ही आपको आकर्षक बना देती हैं। कुछ लड़कियों के लिए तो लिपस्टिक लगाना एक आदत बन गई है और लिपस्टिक लगाने से अनेक महिलाओं में काफी आत्मविश्वास बढ़ जाता है। सिर्फ इतना ही नहीं लिपस्टिक आपके व्यक्तित्व को निखारने का भी काम करती है लेकिन क्या आपको पता है कि अलग—अलग रंगों की लिपस्टिक अलग—अलग तरह के केमिकल्स से बनी होती हैं और आप होठों पर रंग की परत नहीं बल्कि रसायन की परत चढ़ा रही है। ये ना सिर्फ आपके होंठों की प्राकृतिक चमक और सुंदरता को प्रभावित करती है बल्कि आपके सेहत के लिए भी बहुत नुकसानदायक होती है। लिपस्टिक लगाने से होंठों पर दुष्प्रभाव पड़ता है क्योंकि बाजार में उपलब्ध अधिकांश लिप ग्लॉस और लिपस्टिक में क्रोमियम, लेड, एलुमिनियम , कैडमियम और कई अन्य विषाक्त पदार्थ मौजूद पाए जाते हैं।

ये कई स्किन एलर्जी का कारण बनती हैं
लिपस्टिक में मौजूद रसायनों की वजह से होंठों पर अचानक जलन , दाने या होठों के आसपास झनझनाहट जैसी समस्या महसूस होती है। साथ ही होंठों के आस—पास की स्किन भी प्रभावित होती है। लिपस्टिक में बिस्मथ ऑक्सीक्लोराइड नामक एक रसायन होता है।

स्वास्थ्य के लिए नुकसानदायक
लिपस्टिक का इस्तेमाल करने से पेट संबंधी रोगों का खतरा बढ़ जाता है। होंठों पर लगाई जाने वाली लिपस्टिक कभी.कभी भोजन करने के दौरान पेट में चली जाती है, जिसकी वजह से इसमें मौजूद केमिकल शरीर के अंदर प्रवेश कर जाते हैं। इससे शरीर में संक्रमण का खतरा बढ़ जाता है और शरीर के अंदरूनी अंगों को नुकसान भीहो सकता है। केमिकल युक्त लिपस्टिक के बार.बार होठों पर लगाने से यह पेट में पहुंचकर परेशानी पैदा कर सकता है जिससे आपको पेट दर्द, किडनी और लिवर की भी समस्या हो सकती है। लिपस्टिक में रंग बनाने के लिए मैंगनीजए लेड और कैडमियम का इस्तेमाल किया जाता है। जिसकी वजह से होंठों की एलर्जी हो सकती है , आपके होंठ काले पड़ सकते है और वो बार.बार सूख कर फट सकते है। लिपस्टिक के ज्यादा इस्तेमाल से स्किन के छिद्र बंद हो जाते हैं

आंखों में जलन

वैसे तो अमूमन आंखों में जलन तब होती है जब हम आंखों में काजल या मस्कारा लगाते है। लेकिन कुछ महिलाएं लिपस्टिक को आईशैडो की तरह इस्तेमाल करती हैं जिससे उनकी आँखों में भी जलन हो सकती है। जिसका असर आँखों की रौशनी पर भी पड़ सकता है और आप आँखों के रोगों का सामना कर सकते हैं।

बचने के उपाय

जब भी लिपस्टिक लगाए तो सबसे पहले होठों पर बाम लगाएं।इससे होंठों को होने बाले नुकसान को कम किया जा सकता है। लिपस्टिक लगाने से पहले इसकी एक्सपायरी डेट और इंग्रेडिएंट्स जरूर चेक कर लें। रोजाना लिपस्टिक लगाने की बजाय किसी त्यौहार , फंक्शन या विशेष अवसर पर लिपस्टिक लगाने की आदत डालें।
रात को सोने से पहले लिपस्टिक को छुड़ाकर ही सोएं तथा होंठों पर नारियल तेल या मॉइस्चराइजर जरूर लगा लें।
जब भी आप लिपस्टिक लगाएं तो ध्यान रहे कि यह उच्च गुणवत्ता की होनी चाहिए । यह थोड़ी महंगी हो सकती है लेकिन इससे आपके होंठों की सुंदरता और आकर्षण बना रहेगा। बाजार में मिलने बाली सस्ती लिपस्टिक से परहेज़ करना ही बेहतर होगा।
अगर आप होंठों को लिप बाम से मॉइश्चराइज नहीं कर रही हैं तो आपको लिप प्राइमर का इस्तेमाल करना चाहिए। इससे होंठो को स्मूथ बेस मिलता है।
टॉक्सिन फ्री या प्राकृतिक लिपस्टिक लगाएं और गर्भावस्था के दौरान लिपस्टिक लगाने से बचें क्योंकि आपके गर्भ में पल रहे शिशु का स्वास्थ्य भी आपकी जिम्मेदारी है।

 

शहनाज हुसैन अंतर्राष्ट्रीय ख्याति प्राप्त सौन्दर्य विशेषज्ञ है और हर्बल क्वीन के रूप में लोकप्रिय है

Exit mobile version