मुख्य न्यायाधीश डी वाई चंद्रचूड़ ने शपथ के बाद कहा “माई वर्क विल स्पीक”

जस्टिस डी वाई चंद्रचूड़ दो साल के लिए 10 नवंबर, 2024 तक सुप्रीम कोर्ट के प्रमुख के रूप में काम करेंगे।

न्यायमूर्ति धनंजय वाई चंद्रचूड़ ने आज भारत के 50वें मुख्य न्यायाधीश के रूप में शपथ ली है। जहां राष्ट्रपति द्रौपदी मुर्मू ने उन्हें राष्ट्रपति भवन में एक समारोह में पद की शपथ दिलाई।

शपथ ग्रहण समारोह के बाद मीडिया को दिए अपने पहले बयान में, न्यायमूर्ति चंद्रचूड़ ने कहा, “आम नागरिक की सेवा करना मेरी प्राथमिकता है,” और साथ ही उन्होंने रजिस्ट्री और न्यायिक प्रक्रियाओं में सुधार का वादा किया। वहीं उन्होंने एनडीटीवी से कहा कि मेरा काम बोलेगा।

न्यायमूर्ति चंद्रचूड़ दो साल के लिए 10 नवंबर, 2024 तक सुप्रीम कोर्ट के प्रमुख के रूप में काम करेंगे। वह न्यायमूर्ति उदय उमेश ललित का स्थान लेंगे, जो 74 दिनों के छोटे कार्यकाल के लिए उक्त पद पर थे।

बता दें कि न्यायमूर्ति चंद्रचूड़ को 13 मई, 2016 को सर्वोच्च न्यायालय के न्यायाधीश के रूप में पदोन्नत किया गया था। वह अयोध्या भूमि विवाद और निजता के अधिकार सहित कई संविधान पीठों और ऐतिहासिक फैसलों का हिस्सा रहे हैं।

वहीं वह उन बेंचों का भी हिस्सा थे जिन्होंने आईपीसी की धारा 377, आधार योजना की वैधता और सबरीमाला मुद्दे को आंशिक रूप से हटाकर समलैंगिक संबंधों को अपराध से मुक्त करने पर महत्वपूर्ण निर्णय दिए थे।