मकर संक्रांति पर हरिद्वार में आम आदमी नहीं कर पाएंगे स्नान

उत्तराखंड सरकार ने मकर संक्रांति पर गंगा स्नान पर रोक लगा दी है। हरिद्वार में 14 जनवरी को मकर संक्रांति पर गंगा स्नान पर पूरी तरह प्रतिबंध लगा दिया है। बाहरी राज्यों और अन्य जिलों से आने वाले श्रद्धालुओं को भी इजाजत नहीं दी गई है।

हरिद्वार। कोरोना के बढ़ते संक्रमण का असर इस बार गंगा स्नान पर भी पड़ रहा है। मकर संक्रांति के दिन लाखों लोग पतित पावनी गंगा सहित अन्य नदियों में स्नान और उसके बाद दान करते हैं। इस बार कोरोन के कारण आम लोगों के स्नान पर हरिद्वार जिला प्रशासन की ओर से पूरी तरह से प्रतिबंध लगा दिया गया है। निरंजन पीठाधीश्वर आचार्य महामंडलेश्वर स्वामी कैलाशनंद गिरि महाराज ने लिखित बयान जारी कर कोरोना के बढ़ते संक्रमण को देखते हुए सभी से अपील की है कि वे घरों में ही मकर संक्रांति का त्योहार मनाएं।

अपने हालिया आदेश में हरिद्वार जिला प्रशासन की ओर से जिलाधिकारी विनय शंकर पांडेय ने कहा है कि ने हरिद्वार ज़िला प्रशासन ने 14 जनवरी को मकर संक्रांति पर श्रद्धालुओं के स्नान करने पर प्रतिबंध लगाया। हर की पौड़ी पर भी प्रवेश प्रतिबंधित किया गया है। 14 जनवरी को रात 10 बजे से सुबह 6 बजे तक नाइट कर्फ्यू लागू रहेगा।

हरिद्वार के साथ-साथ ही ऋषिकेश में भी बढ़ते कोरोना केस को देखते हुए प्रशासन ने भी सभी घाटों पर स्नान पर पूरी तरह प्रतिबंध लगा दिया है। यहां भी 14 जनवरी को कोई भी श्रद्धालु गंगा स्नान नहीं कर पाएगा। बता दें कि कोरोना के बीच व्यवस्था बनाए रखना प्रशासन के लिए सबसे बड़ी चुनौती है। कोरोना के नए केस भी बढ़ रहे हैं। ऐसे में इतनी संख्या में जब लोग शहर में पहुंचेंगे तो कोरोना विस्फोट बढ़ने की आशंका है।