Home बिजनेस कांग्रेस के तेवर हुए सख्त, महंगाई पर केंद्र सरकार को घेरा

कांग्रेस के तेवर हुए सख्त, महंगाई पर केंद्र सरकार को घेरा

भाजपा सरकार ने डीजल पर टैक्स लगाया, उससे साढ़े 3 लाख करोड़ रुपये कमाये। ये रूपये कहाँ गये? मोदी सरकार ने पेट्रोल-डीजल पर टैक्स बढ़ा कर 21.50 लाख करोड़ रुपये कमाये; यह पैसा कहाँ गया?

नई दिल्ली। हाल के दिनों में जिस प्रकार से महंगाई बढी है, उससे आम लोगों को मुश्किलों का सामना करना पड रहा है। रसोई गैस सहित पेट्रोल और डीजल की कीमतें रिकाॅर्ड बना रही हैं। इसको लेकर हर जगह बात हो रही है। आम जनता के साथ ही राजनीतिक दलों के नेता भी सरकार की नीतियों पर सवाल उठा रहे हैं। ऐसे में कांग्रेस के पूर्व अध्यक्ष व सांसद राहुल गांधी और कांग्रेस महासचिव प्रियंका गांधी ने भी केंद्र सरकार की आर्थिक नीतियों पर सवाल उठाए हैं।

दरअसल, उल्लेखनीय है कि राष्ट्रीय राजधानी दिल्ली में पेट्रोल की कीमत 90 रुपये प्रति लीटर के स्तर को पार कर गई, जबकि डीजल का दाम बढ़कर 80.60 रुपये प्रति लीटर हो गया। सार्वजनिक क्षेत्र की तेल कंपनियों ने पेट्रोल-डीजल की कीमतों में लगातार 12वें दिन बढ़ोतरी की।

राहुल गांधी ने पेट्रोलियम उत्पादों के दाम में वृद्धि का हवाला देते हुए ट्वीट किया, ‘‘महंगाई का विकास!’’राहुल गांधी ने पेट्रोल-डीजल की कीमतों में लगातार हो रही बढ़ोतरी को लेकर शनिवार को सरकार पर निशाना साधते हुए आरोप लगाया कि इस सरकार के राज में महंगाई का विकास हो रहा है।

कांग्रेस की उत्तर प्रदेश प्रभारी प्रियंका ने सरकार पर कटाक्ष करते हुए कहा, ‘‘भाजपा सरकार को सप्ताह के उस दिन का नाम ‘अच्छा दिन’ कर देना चाहिए जिस दिन डीजल-पेट्रोल के दामों में बढ़ोत्तरी न हो, क्योंकि महंगाई की मार के चलते बाकी दिन तो आमजनों के लिए ‘महंगे दिन’ हैं।’’

प्रियंका गांधी ने कहा कि डीजल आपको पहले 60 रुपये में मिलता था। लेकिन आज कहीं 80 तो कहीं 90; डीएपी 1100 में मिलता था, आज 1200 का है; बिजली के बिल बढ़ते जा रहे हैं। लेकिन आपके गन्ने के दाम आपको नहीं मिल रहे हैं। भाजपा सरकार ने डीजल पर टैक्स लगाया, उससे साढ़े 3 लाख करोड़ रुपये कमाये। ये रूपये कहाँ गये? मोदी सरकार ने पेट्रोल-डीजल पर टैक्स बढ़ा कर 21.50 लाख करोड़ रुपये कमाये; यह पैसा कहाँ गया?

 

Exit mobile version