कोरोना हुआ कम, पर्यटकों से गुलजार हो रहा है ये इलाका

जिंदगी पटरी पर लौट रही है। गर्मियों के मौसम में घरों में बंद रहने से मन अशांत सा हो गया था। अब लोग हिमाचल प्रदेश और जम्मू-कश्मीर की हसीन वादियों की ओर रूख कर रहे है। वहां व्यवस्थाएं ठीक की जा रही है।

नई दिल्ली। जैसे जैसे कोरोना के दैनिक संक्रमण में कमी आ रही है, आम जनजीवन पटरी पर लौटती दिख रही है। लोग घरों से निकल रहे हैं। कुछ परिवार घूमने के लिए भी पर्यटन स्थलों की ओर रूख कर रहे हैं। यह अर्थव्यवस्था के लिहाज से अच्छा माना जा रहा है।
हिमाचल प्रदेश, जम्मू-कश्मीर के पर्यटन स्थलों पर गर्मी के मौसम में अधिक भीड़ जुटती है। बीते कुछ दिनों से इन स्थानों पर पर्यटकों को देखा जा रहा है। कोरोना के मामले कम होने और कई राज्यों में प्रतिबंधों में छूट के बाद जून में राज्य में लगभग 6-7 लाख पर्यटक आए।
पर्यटन विभाग के निदेशक अमित कश्यप ने बताया, कोरोना से राज्य में आने वाले पर्यटकों पर बहुत असर पड़ा था। पर्यटन क्षेत्र को रिवाइव करने के लिए हमने कई कदम उठाए हैं। पिछले सालों राज्य में लगभग 1.30 करोड़ पर्यटक आते थे। पिछले साल लगभग 32 लाख पर्यटक आए थे। इस साल 31 मई तक लगभग 13 लाख पर्यटक प्रदेश में आए। प्रदेश की GDP में पर्यटन क्षेत्र का योगदान लगभग 7%-8% रहता था।
कोरोना प्रतिबंधों में छूट मिलने के बाद मनाली में काफी संख्या में पर्यटक पहुंचे हैं। मनाली में HP सरकार के परिवहन विंग पर्यटन विभाग के सहायक प्रबंधक ने बताया, हमने 1 जुलाई से दिल्ली से मनाली और मनाली से दिल्ली की सेवाएं शुरू की। हम 50% पर्यटक बुक कर रहे हैं। एक पर्यटक ने बताया, मैं दिल्ली से आया हूं और यहां काफी भीड़ है। हिडिम्बा मंदिर और मॉल रोड पर काफी भीड़ होती है, अभी कोरोना खत्म नहीं हुआ है हमें सावधानी बरतनी चाहिए।
जम्मू-कश्मीर के उपराज्यपाल मनोज सिन्हा ने श्रीनगर में गोल्फ क्लब का उद्घाटन किया। उन्होंने कहा, ये गोल्फ क्लब 2014 में आए बाढ़ में पूरी तरह से क्षतिग्रस्त हो गया था, आज इसका फिर से शुभारंभ हुआ है जो कि प्रसन्नता की बात है। इससे टूरिज्म बढ़ेगा।