COVID19 Update : दिल्ली में रोजाना मामले 100 के नीचे, कई राज्यों में ही संक्रमण में कमी

दिल्ली में आंकड़ा 100 के नीचे हैं। बाजारों में लोगों के कोरोना नियमों की धज्जियां उड़ाने की सूचना है। यदि लोग नहीं संभले, तो तीसरी लहर से कोई नहीं बचा सकता है। सचेत रहें, सुरक्षित रहें का नारा दिया जा रहा है।

नई दिल्ली। कोरोना के दैनिक मामलों में संक्रमण में कमी देखी जा रही है। राजधानी दिल्ली में यह आंकड़ा 100 से कम हो गया है। कई दूसरे राज्यों में भी कोरोना से बीमार होने वाले मरीजों की संख्या में कमी दर्ज की जा रही है।

राजधानी दिल्ली (COVID19 in Delhi) में पिछले 24 घंटे में कोरोना वायरस के 86 नए मामले आए, 106 रिकवरी हुईं और 5 लोगों की कोरोना से मौत हुई। रविवार को केंद्रीय स्वास्थ्य एवं परिवार कल्याण मंत्रालय (MoHFW) की ओर से कहा गया है कि भारत में #COVID19 के 43,071 नए मामले आने के बाद कुल पॉजिटिव मामलों की संख्या 3,05,45,433 हुई। 955 नई मौतों के बाद कुल मौतों की संख्या 4,02,005 हो गई है। 52,299 नए डिस्चार्ज के बाद कुल डिस्चार्ज की संख्या 2,96,58,078 हुई। देश में सक्रिय मामलों की कुल संख्या 4,85,350 है।

मंत्रालय की ओर से कहा गया है कि कोरोना वायरस के सक्रिय मामले कुल मामलों के 1.59% हैं। रिकवरी रेट बढ़कर 97.09% हो गया है और दैनिक पॉजिटिविटी रेट 2.34% है। देश में पिछले 24 घंटे में कोरोना वायरस की 63,87,849 वैक्सीन लगाई गईं, जिसके बाद कुल वैक्सीनेशन का आंकड़ा 35,12,21,306 हुआ।

हरियाणा में पिछले 24 घंटों में 52 नए कोविड मामले, 98 रिकवरी और 13 मौतें दर्ज़ की गई।पश्चिम बंगाल में कोरोना वायरस के 1,391 नए मामले आए, 1,819 लोग डिस्चार्ज हुए और 21 लोगों की कोरोना से मौत हुई। मणिपुर में आज 689 नए कोविड मामले, 13 मौतें और 520 रिकवरी दर्ज़ की गई। तेलंगाना में आज कोरोना वायरस के 848 नए मामले आए, 1,114 रिकवरी हुईं और 6 लोगों की कोरोना से मौत हुई। तमिलनाडु में कोरोना वायरस के 4,013 नए मामले आए, 4,724 रिकवरी हुईं और 115 लोगों की कोरोना से मौत हुई।

डाॅक्टरों का कहना है कि अभी भी लोगों को सचेत रहने की जरूरत है। कोरोना संक्रमण में कमी आ रही है। अभी बहुत बड़ी आबादी को टीकाकरण किया जाना शेष है। यदि लोगों ने कोरोना अनुरूप व्यवहार का पालन नहीं किया तो परिणाम घातक हो सकते हैं। तीसरी लहर की बात जो कही जा रही है, वह भी आ सकती है और पहले से अधिक खतरनाक भी हो सकती है।

Read Alsoवैक्सीनेशन को लेकर केंद्र और दिल्ली सरकार आमने-सामने