डाबर ओडोनिल के नकली कारखाना का भंडाफोड़, मुंबई में लाखों का माल बरामद

एसएम हुसैन आईपीआर प्रोटक्शन एजेंसी ने तुर्भे पुलिस थाना के साथ मिलकर छापेमारी की कार्रवाई की और 10 हजार 411 डाबर ओडोनिल अपने कब्जे में लिया। इसका बाजार मूल्य लाखों में है। भारतीय दंड संहिता की धारा 420, 103,104, टे्डमार्क एक्ट, 51,53,65 काॅपीराइट एक्ट के तहत प्राथमिकी दर्ज कराई गई है।

मुंबई। जब कोई ब्रांड लोगों की जुबान पर चढ जाता है, तो नकली माल का कारोबार करनेवाले लोग उसका अधिक से अधिक माल बनाकर बाजार में मनचाहा मुनाफा कमाना चाहते हैं। डाबर एक ऐसा ही आयुर्वेदिक कंपनी है, जिसके कई उत्पाद लोगों की जुबान पर हैं। शहरों से लेकर गांव तक उसकी मांग है। देश की आर्थिक राजधानी मुंबई में कुछ लोग डाबर ओडोनिल का डुप्लीकेट माल बनाकर बाजार में बेच रहे थे। इसकी जानकारी मिलते ही एसएम हुसैन आईपीआर प्रोटक्शन एजेंसी हरकत में आया। एजेंसी ने स्थानीय पुलिस के साथ मिलकर छापेमारी की कार्रवाई की और 10 हजार 411 डाबर ओडोनिल अपने कब्जे में लिया। इसका बाजार मूल्य लाखों में है।

बता दें कि जैसे ही एसएम हुसैन आईपीआर प्रोटक्शन एजेंसी को जानकारी मिली कि मुंबई के कई बाजार में डाबर के नाम पर डुप्लीकेट उत्पाद बेचा जा रहा है, एजेंसी ने अपने सोर्स से पूरी जानकारी एकत्र की। एसएम हुसैन आईपीआर प्रोटक्शन एजेंसी ने जानकारी हासिल कि नवी मुंबई के इलाके में इसे एक कंपनी में बनाया जा रहा है। यह कंपनी तुर्भे पुलिस थाना क्षेत्र में आता है। एसएम हुसैन आईपीआर प्रोटक्शन एजेंसी ने स्थानीय पुलिस से सपंर्क किया।

एसएम हुसैन आईपीआर प्रोटक्शन एजेंसी के डायरेक्टर सैयद मशकूर हुसैन ने बताया कि हमें जैसे ही डाबर ओडोनिल के डुप्लीकेट माल बनने की सूचना आई, हमने नवी मुंबई के आसपास के इलाकों में भी और जानकारी हासिल की। उसके आधार पर उस जगह छापेमारी की, जहां इस प्रकार का ओडोनिल बनाया जा रहा था, जो डाबर के नाम पर डुप्लीकेट बाजार में बेचा जा रहा था। उन्होंने बताया कि किसी भी कंपनी का नाम खराब न हो और ग्राहकों को सही सामान उचित दाम पर मिले, इसके लिए हमारी एजेंसी काम करती है। इस बार हमने डाबर ओडोनिल को लेकर कार्रवाई की। हमने छापमेारी के दौरान लाखों रूपये का डुप्लीकेट ओडोनिल अपने कब्जे में लिया।

सैयद मशकूर हुसैन ने बताया कि पुख्ता जानकारी के आधार पर हमारी टीम ने पावने एमआईडीसी के दुकान नंबर 39 पर छापेमारी की। इस कार्य में नवी मुंबई के तुर्भे पुलिस स्टेशन की सहायता ली गई। अपेक्षित पुलिसकर्मियों के साथ हमने विनोद हीराजी दुबरिया के कंपनी पर छोपमारी की। इस छापेमारी में हमें 10 हजार 411 ओडोनिकल के पैकैट मिले, जो डाबर ओडोनिल के नाम से बेचे जा रहे थे।

इसको लेकर तुर्भे पुलिस स्टेशन में भारतीय दंड संहिता की धारा 420, 103,104, टे्डमार्क एक्ट, 51,53,65 काॅपीराइट एक्ट के तहत प्राथमिकी दर्ज कराई गई है। प्राप्त जानकारी के अनुसार प्राथमिकी संख्या 0170 में आरोपी के संबंध में पूरा विवरण दिया गया है। अब स्थानीय पुलिस प्रशासन इस पर आगे की कार्रवाई करेगा।