दिल्ली पुलिस ने राकेश टिकैत को जंतर-मंतर प्रोटेस्ट के दौरान लिया हिरासत में

भारतीय किसान संघ (बीकेयू) के राष्ट्रीय प्रवक्ता और संयुक्त किसान मोर्चा (एसकेएम) के प्रमुख नेताओं में से एक  टिकैत ने आरोप लगाया कि दिल्ली पुलिस केंद्र के इशारे पर काम कर रही है।

किसान नेता राकेश टिकैत को रविवार को दिल्ली पुलिस ने देश में बेरोजगारी के खिलाफ विरोध प्रदर्शन में भाग लेने के चलते राष्ट्रीय राजधानी में प्रवेश करते समय हिरासत में ले लिया। दिल्ली पुलिस के एक अधिकारी ने कहा कि टिकैत को गाजीपुर में तब रोका गया जब वह जंतर-मंतर जा रहे थे।

इसके बाद, उन्हें हिरासत में लिया गया और मधु विहार पुलिस स्टेशन ले जाया गया जहां पुलिस ने उनसे बात की और उन्हें वापस जाने का अनुरोध किया।

वहीं भारतीय किसान संघ (बीकेयू) के राष्ट्रीय प्रवक्ता और संयुक्त किसान मोर्चा (एसकेएम) के प्रमुख नेताओं में से एक  टिकैत ने आरोप लगाया कि दिल्ली पुलिस केंद्र के इशारे पर काम कर रही है।

टिकैत ने प्रतिक्रिया देते हुए ट्वीट किया और अपने ट्वीट में लिखा “सरकार के इशारे पर काम कर रही दिल्ली पुलिस किसानों की आवाज नहीं दबा सकती। यह गिरफ्तारी एक नई क्रांति लाएगी। यह संघर्ष अंतिम सांस तक जारी रहेगा। न रुकेंगे, न थकेंगे, न झुकेंगे।“

बता दें कि दिल्ली के मंत्री और आम आदमी पार्टी (आप) के नेता गोपाल राय ने भी टिकैत की गिरफ़्तारी की निंदा की है।

राय ने ट्वीट करते हुए लिखा, “किसान नेता राकेश टिकैत रोजगार आंदोलन के लिए जा रहे थे, लेकिन पुलिस ने उन्हें सीमा पर ही रोक दिया। यह बहुत निंदनीय है।”