महाराष्ट्र के पूर्व गृह मंत्री अनिल देशमुख 13 महीने बाद जेल से हुए रिहा

महाराष्ट्र के पूर्व गृह मंत्री और एनसीपी नेता अनिल देशमुख को सीबीआई द्वारा दर्ज भ्रष्टाचार के एक मामले में जमानत दे दी गई है।

महाराष्ट्र के पूर्व कैबिनेट मंत्री अनिल देशमुख को एक साल से अधिक समय तक जेल में रहने के बाद बुधवार को रिहा कर दिया गया। मुंबई की आर्थर रोड जेल से बाहर निकलते ही उनके समर्थकों ने उनका भव्य स्वागत किया। 72 वर्षीय नेता को केंद्रीय जांच ब्यूरो द्वारा उनके खिलाफ दायर भ्रष्टाचार के मामले में जमानत दी गई है।

ईडी द्वारा कथित मनी लॉन्ड्रिंग मामले में गिरफ्तार किए जाने के बाद से वह नवंबर 2021 से जेल में थे।

बता दें कि महाराष्ट्र विधानसभा ने लोकायुक्त विधेयक पारित किया था, जो मुख्यमंत्री और राज्य मंत्रिमंडल को भ्रष्टाचार विरोधी लोकपाल के दायरे में लाता है।

सीबीआई की एक विशेष अदालत की विशेष अदालत ने आईसीआईसीआई बैंक की पूर्व सीईओ चंदा कोचर, उनके पति दीपक कोचर और वीडियोकॉन समूह के संस्थापक वेणुगोपाल धूत की सीबीआई हिरासत 29 दिसंबर तक बढ़ा दी है।