सब के लिए फ्री हुई वैक्सीन बूस्टर डोज, प्राइवेट सेंटरों पर देने होंगे पैसे

बूस्टर डोज के लिए आपको कोविन पोर्टल पर अपने लिए शेड्यूल बुक करना होगा। सीधे वैक्सिनेशन केंद्र पर जाकर भी बूस्टर डोज लगवा सकेंगे।

बूस्टर डोज का फ्री ना होना और कोरोना महामारी के कमजोर होने जैसी वजहों से ज्यादातर लोग बूस्टर डोज नहीं लगवा रहे थे। जिसके बाद केंद्र ने तय किया था कि सीनियर सिटीजंस को छोड़कर बाकी सभी को बूस्टर डोज के पैसे देने पड़ेंगे। हालांकि, दिल्ली और बिहार जैसे कुछ राज्यों ने अपने यहां बूस्टर डोज को मुफ्त कर दिया है। अभी तक 18 से 59 साल की  77 करोड़ पात्र आबादी में से एक प्रतिशत से भी कम ने बूस्टर डोज ली थी।

यानि एक बड़ी आबादी के सामने कोरोना वायरस से संक्रमित होने का जोखिम था इसलिए सरकार ने मुफ्त बूस्टर डोज के लिए विशेष अभियान  चलाने का फैसला किया और अब से कोरोना वैक्सीन का बूस्टर डोज मुफ्त कर दिया गया है। वहीं, प्राइवेट वैक्सिनेशन सेंटरो पर बूस्टर डोज के लिए पहले की तरह ही पैसे देने पड़ेंगे। सरकारी केंद्रों पर ही मुफ्त में लगेगा।

बता दें कि बूस्टर डोज के लिए आपको कोविन पोर्टल पर अपने लिए शेड्यूल बुक करना होगा। सीधे वैक्सिनेशन केंद्र पर जाकर भी बूस्टर डोज लगवा सकेंगे। कोरोना वैक्सीन को लेकर तमाम स्टडी और रिसर्च बता रही हैं कि फुली वैक्सिनेटेड लोगों में 6 महीने बाद वायरस से सुरक्षा देने वाली एंटीबॉडी कमजोर पड़ने लगते हैं। इससे वैक्सीन लेने के बावजूद संक्रमित होने का जोखिम बढ़ जाता है तथा इस जोखिम को कम करने के लिए बूस्टर डोज जरूरी है।