Monsoon में फिट रहना है, तो डायट में ये शामिल करें

Monsoon में आप सेहत के प्रति सर्तक रहें। बेपरवाह होते ही पानी की बीमारियां आपको जकड़ लेंगी। फिर आप बीमार होते ही जाएंगे। इससे अच्छा है कि मानसून शुरू होते ही डायट को Monsoon के अनुरूप किया जाए।

नई दिल्ली। पानी से जुड़ी बीमारियां मानसून में पनपती हैं, जैसे दस्त, पीलिया, पेट दर्द आदि। इन्हें रोका जा सकता है। इसके लिए दवाई नहीं डायट होनी चाहिए स्पेशल। यानी मानसून डायट। इस मौसम में फिट रहने के लिए डायट में कुछ बदलाव करें। मसलन –

  • Monsoon में होने वाली बीमारियों से खुद को सुरक्षित रखने के लिए सेब, बब्बू गोशा, आम, जामुन, लीची, आलू बुखारा, जामुन, अनार, केला, पपीता जैसे मौसमी फलों का इस्तेमाल करें।
  • संतुलित आहार लें। अपने भोजन में प्रोटीन, कैल्शियम, वसा और मिनरल्स को शामिल करें। अंकुरित अनाज और दालों के अलावा मौसमी सब्जियों का इस्तेमाल करें, पकाने से पहले सब्जियों को अच्छी तरह से धो लें।
  • ग्रीन टी या फिर हर्बल टी का इस्तेमाल करें।
  • गरमागरम सूप पिएं।
  • ताजा और घर पर बना खाना खाऐ।
  • खूब पानी पिएं। इससे डीहाइड्रेशन की समस्या से बचाव होगा।
  • भोजन में करेले, नीम, तुलसी, पुदीना, हल्दी पाउडर, मेथी दाना, अदरक, लहसुन और हींग का इस्तेमाल जरूर करें। यह इंफेक्शन दूर करने में मदद करते हैं।

हेल्थ न्यूज

रोज़ लें बिना ब्रेक रात की स्लीप

एक शोध के अनुसार 8 घंटे की नींद से पहले कुछ भी याद किया, देखा, पढ़ा और हर तरह की बात दिमाग में स्टोर हो जाती है। ब्रिघम एंड वुमेन्स हॉस्पिटल के न्यूरो साइंटिस्ट जैन एफ डफी के अनुसार, “प्रतिभागियों के पर्याप्त नींद लेने के बाद हमने पाया कि उनमें चेहरों को नाम से पहचानने की क्षमता में वृद्धि हुई है। इसके साथ ही उनके जवाबों में ज्यादा आत्मविश्वास भी दिखाई पड़ा।”