इस प्रतीक चिन्ह से रोशन होंगे सैंकड़ों इमारत

भारत की जी-20 की अध्यक्षता दुनिया में एकता की इस सार्वभौमिक भावना को बढ़ावा देने की ओर काम करेगी। इसलिए हमारी थीम - 'एक पृथ्वी, एक परिवार, एक भविष्य' है।

नई दिल्ली। भारत आज (1 दिसंबर) औपचारिक रूप से #G20 की अध्यक्षता संभालेगा। 100 से अधिक स्मारकों को G20 लोगो से रोशन किया जाएगा।भारत की एक वर्ष की अध्‍यक्षता अवधि अगले वर्ष 30 नवम्‍बर तक चलेगी। इस दौरान देश के विभिन्‍न स्‍थानों में 32 अलग-अलग सेक्टर की लगभग दो सौ बैठकें होंगी।

इस अवसर पर प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी की ओर से कहा गया कि जी20 की पिछली 17 अध्यक्षताओं के दौरान वृहद आर्थिक स्थिरता सुनिश्चित करने, अंतरराष्ट्रीय कराधान को तर्कसंगत बनाने और विभिन्न देशों के सिर से कर्ज के बोझ को कम करने समेत कई महत्वपूर्ण परिणाम सामने आए। हम इन उपलब्धियों से लाभान्वित होंगे तथा यहां से और आगे की ओर बढ़ेंगे। अब, जबकि भारत ने इस महत्वपूर्ण पद को ग्रहण किया है, मैं अपने आपसे यह पूछता हूं- क्या जी20 अभी भी और आगे बढ़ सकता है? क्या हम समग्र मानवता के कल्याण के लिए मानसिकता में मूलभूत बदलाव को उत्प्रेरित कर सकते हैं? मेरा विश्वास है कि हम ऐसा कर सकते हैं।

भारत के विदेश मंत्री एस जयशंकर ने कहा कि G20 की अध्यक्षता दूसरों के साथ हमारी कहानी साझा करने का अवसर प्रदान करती है, विशेष रूप से उनके साथ जो हमारे कुछ अनुभवों को अपने प्रदर्शन या चुनौतियों पर स्थानांतरित कर सकते हैं। दशक के अंत तक हम सबसे अधिक आबादी वाले देश होंगे, हम दुनिया की तीसरी सबसे बड़ी अर्थव्यवस्था होंगे। आर्टिफिशियल इंटेलिजेंस के वर्चस्व वाली दुनिया में 2030 तक वैश्विक अर्थव्यवस्था के लिए हमारे मानव संसाधन महत्वपूर्ण होंगे।