कम नहीं हो रही है महंगाई, जनता है बेहद परेशान

बीते कुछ समय से हर दिन तेल कंपनियां आम आदमी को झटका देती है। शनिवार को पेट्रोल ग्राहकों को झटका लगा है। डीजल के ग्राहकों को लगातार दूसरे दिन राहत मिली है। बावजूद इसके महंगाई बढ़ रही है। आम आदमी के सवालों का जवाब नहीं मिलता है।

नई दिल्ली। तेल कंपनियों की मनमानी के कारण आम जनता बेहद परेशान है। पेट्रोल-डीज़ल के दाम आसमान छू रहे हैं। इससे आने जाने का किराया भी बढ़ गया है। कई शहरों में दूध के साथ दैनिक उपभोग की वस्तुओं के दाम में वृद्धि दर्ज की गई है। विपक्षी दल भले ही बयान जारी करें, लेकिन महंगाई कम होने का नाम नहीं ले रही है।

असल में, राजधानी दिल्ली में आज पेट्रोल 30 पैसा प्रति लीटर महंगा हो गया है। दिल्ली में आज पेट्रोल के दाम बढ़कर 101.84 रुपये प्रति लीटर पर पहुंच गए हैं। जबकि डीजल कल के भाव से बिक रहा है। इसके साथ ही मुंबई में आज पेट्रोल 29 पैसा महंगा हुआ है। देश की आर्थिक राजधानी मुंबई में पेट्रोल 107 रुपये प्रति लीटर और डीजल 97.45 रुपये प्रति लीटर है। कोलकाता में पेट्रोल 102.08 रुपये प्रति लीटर और डीजल 93.02 रुपये प्रति लीटर हैं। चेन्नई में पेट्रोल के दाम 102.49 रुपये प्रति लीटर और डीजल 94.39 रुपये प्रति लीटर है।

कोरोना की वजह से बकरीद( ईद उल-अज़हा) से पहले बकरा व्यापारियों को परेशानी हो रही है। एक व्यापारी ने बताया, “मैंने अच्छा माल लाया फिर भी अच्छी खरीदारी नहीं हो रही है। कोरोना की वजह से लोगों के पास पैसे नहीं इसलिए खरीदारी कम हो रही है। हमने बकरों के दाम भी कम कर दिए हैं।”

कांग्रेस की ओर से लगातार महंगाई पर बात की जा रही है। कांग्रेस नेताओं का कहना है कि पेट्रोल-डीज़ल की लूट हर रोज़ जारी है, जनता की कमाई पर भारतीय जनता पार्टी भारी है। तेल और पॉवर बॉस्केट की कीमतें जून में 32.83 फीसदी बढ़ीं और मैन्यूफैक्चर्ड प्रॉडक्ट्स की बात करें तो इसकी मुद्रास्फीति दर मई में 10.83 फीसदी से बढ़कर जून में 10.88 फीसदी पर पहुंच गई। महंगाई के दलदल में फंस कर आम आदमी की जिंदगी लगातार मुश्किल होती जा रही है।