कम नहीं हो रहा है इजराइल का संकट

झड़प में 10 बच्चों और एक महिला समेत 28 फलस्तीनियों की मौत हुई है। अधिकतर मौत हवाई हमलों से हुई। इजराइली सेना ने कहा कि मरने वालों में कम से कम 16 उग्रवादी थे। हमले में एस्कलोन शहर में दो इजराइली महिलाओं की मौत हो गई जबकि 10 अन्य घायल हो गए।

येरूशलम। इजराइल का संकट कम होने का नाम नहीं ले रहा है। एक के बाद एक हमले से वहां की जनता परेशान है। प्रशासन सकते में हें। इजराइल और फलस्तीन में जंग जारी है। प्राप्त जानकारी के अनुसार, दोनों ओर से लगातार रॉकेट दागे जा रहे हैं। इजराइल ने मंगलवार को गाजा पर हवाई हमले कर दो बहुमंजिला इमारतों को निशाना बनाया। इसके बारे में उसका मानना था कि वहां उग्रवादी छिपे थे, वहीं जवाब देते हुए हमास और अन्य सशस्त्र समूहों ने दक्षिणी इजराइल पर सैकड़ों रॉकेट दागे। दोनों तरफ से हुए इन हमलों में बच्चों समेत 28 लोगों की जान चली गई जबकि दो इजराइली महिलाओं की भी मौत हुई।

बताया जा रहा है कि यहां हमास के हमले में एक भारतीय महिला की भी मौत हो गई जो इजराइल में काम कर रही थी। यरूशलम में हफ्तों के तनाव के बाद यह झड़प हुई हैं। गाजा के स्वास्थ्य अधिकारियों ने कहा कि सोमवार शाम से शुरू हुई झड़प में 10 बच्चों और एक महिला समेत 28 फलस्तीनियों की मौत हुई है। अधिकतर मौत हवाई हमलों से हुई। इजराइली सेना ने कहा कि मरने वालों में कम से कम 16 उग्रवादी थे। हमले में एस्कलोन शहर में दो इजराइली महिलाओं की मौत हो गई जबकि 10 अन्य घायल हो गए। वर्तमान हिंसक झड़प में पहली बार इजराइली नागरिकों की मौत के बाद इजराइल के प्रधानमंत्री बेंजामिन नेतन्याहू ने कहा कि अधिकारियों ने आतंकी संगठन हमास और गाजा पट्टी में इस्लामिक जिहाद के खिलाफ हमले तेज करने का फैसला किया है। इजराइली सेना के मुताबिक उसने गाजा में उग्रवादी संगठन इस्लामिक जिहाद के एक वरिष्ठ कमांडर को मार दिया है। उसने कहा कि मारे गए आतंकी कमांडर की पहचान समीह-अल-मामलुक के तौर पर हुई है जो इस्लामिक जिहाद की रॉकेट इकाई का प्रमुख था। सेना ने कहा कि हमले में उग्रवादी संगठन के अन्य बड़े उग्रवादी भी मारे गए हैं। इस्लामिक जिहाद ने गाजा सिटी में एक अपार्टमेंट पर हुए हवाई हमले में तीन लोगों की मौत की पुष्टि की है जो उसकी सशस्त्र शाखा के वरिष्ठ सदस्य थे। उग्रवादी संगठन ने बदला लेने की बात कही है। वहीं तनाव के और बढ़ने का संकेत देते हुए इजराइल ने सैन्य अभियान का दायरा बढ़ाने की बात कही है। सेना ने कहा कि वह गाजा सीमा पर अपने सैनिकों की संख्या बढ़ा रही है और रक्षा मंत्री ने 5000 आरक्षित सैनिकों को वहां भेजने का आदेश दिया है।

प्राप्त जानकारी के अनुसार, इसी अवधि के दौरान गाजा के उग्रवादियों ने इजराइल की तरफ सैकड़ों रॉकेट दागे जिसमें यहां काम करने वाली केरल की एक महिला की मंगलवार को इस रॉकेट हमले में मौत हो गई। उसके परिवार के सदस्यों ने यहां यह जानकारी दी। उन्होंने बताया कि अश्केलोन शहर में 31 वर्षीय सौम्या के घर पर रॉकेट गिरा, जब वह शाम को वीडियो कॉल पर केरल में अपने पति संतोष से बात कर रही थी। संतोष के भाई साजी ने श्पीटीआई-भाषा को बताया, ष्मेरे भाई ने वीडियो कॉल के दौरान जोर की आवाज सुनी। अचानक फोन कट गया। फिर हमने तुरंत वहां काम कर रहे अन्य मलयाली लोगों से संपर्क किया। इस तरह हमें घटना के बारे में पता चला।ष् उसके रिश्तेदारों ने कहा कि इडुक्की जिले के कीरिथोडु की रहने वाली सौम्या पिछले सात वर्षों से इजराइल में एक घरेलू सहायिका के रूप में काम कर रही थी। अभी तक इस घटना के बारे में कोई आधिकारिक पुष्टि नहीं हुई है।