दुनिया का सबसे मजबूत पासपोर्ट है जापान, जानिए भारत को मिला कौनसा स्थान?

बता दें कि भारत इसमें 87वें स्थान पर है और सीरिया, इराक और अफगानिस्तान अभी भारत से पीछे हैं।

हेनले पासपोर्ट इंडेक्स अपनी रैंकिंग के साथ वापस आ चुका है। इस रैंकिंग में वे दुनिया के सबसे शक्तिशाली/सबसे कमजोर पासपोर्ट के लिए  रैंकिंग जारी करते हैं। इस इंडेक्स के अनुसार जापान का पासपोर्ट दुनिया का सबसे शक्तिशाली पासपोर्ट हो गया है।

जापान, सिंगापुर और दक्षिण कोरिया ने हेनले पासपोर्ट इंडेक्स में शीर्ष स्थान हासिल किया है जो 199 पासपोर्टों को रैंक देने के लिए अंतर्राष्ट्रीय हवाई परिवहन प्राधिकरण के विशेष डेटा का उपयोग करता है।

जापानी पासपोर्ट 193 देशों को वीजा-मुक्त यात्रा प्रदान करता है, जो सिंगापुर और दक्षिण कोरिया के लोगों की तुलना में एक अधिक है। वहीं इसमें फरवरी में यूक्रेन पर आक्रमण करने वाला रूस 119 देशों तक पहुंच के साथ 50वें स्थान पर है। जबकि 144 देशों तक पहुंच के साथ यूक्रेन 35वें स्थान पर तथा 80 देशों में पहुंच के साथ चीन 69वें स्थान पर है।

बता दें कि भारत इसमें 87वें स्थान पर है और सीरिया, इराक और अफगानिस्तान अभी भारत से पीछे हैं। वहीं तालिबान के द्वारा शासित देश का पासपोर्ट केवल 27 देशों में ही बिना परेशानी के पहुंच प्रदान करता है।

हेनले पासपोर्ट इंडेक्स 2022 के अनुसार टॉप 10 देशों की सूची:

  1. जापान- 193
  2. सिंगापुर,दक्षिण कोरिया- 192
  3. जर्मनी, स्पेन- 190
  4. फिनलैंड, इटली, लक्जमबर्ग-189
  5. ऑस्ट्रिया, डेनमार्क, नीदरलैंड, स्वीडन- 188
  6. फ्रांस, आयरलैंड, पुर्तगाल, यूनाइटेड किंगडम- 187
  7. बेल्जियम, न्यूजीलैंड, नॉर्वे, स्विट्जरलैंड, यूनाइटेड राज्य-186
  8. ऑस्ट्रेलिया, कनाडा, चेक गणराज्य, ग्रीस, माल्टा- 185
  9. हंगरी- 183
  10. लिथुआनिया, पोलैंड, स्लोवाकिया- 182

यह इंडेक्स अमीर व्यक्तियों और सरकारों को दुनिया भर में नागरिकता का मूल्य आंकने में मदद करती है, जिसके आधार पर पासपोर्ट वीज़ा-मुक्त, या वीज़ा-ऑन-अराइवल एक्सेस प्रदान करते हैं।