आज के दिन मनाया जाता है लीगल ड्रिंकिंग एज डे, जानिए क्या है उद्देश्य

इस दिन को मनाने का सबसे बड़ा कारण लोगों में हो रही शराब के कारण कई सारी बीमारियो से उन्हें अवगत कराना है।

हर साल 21 जुलाई का दिन लीगल ड्रिंकिंग एज डे के रुप में मनाया जाता हैं। इस दिन को मनाने का मुख्य उद्देश्य लोगों को उनकी कानूनी रुप से शराब खरीदने और पीने की उम्र से रूबरू कराना है।

इस दिन को मनाने का सबसे बड़ा कारण लोगों में हो रही शराब के कारण कई सारी बीमारियो से उन्हें अवगत कराना है तो कहीं ना कहीं डॉक्टरों का मानना है कि इसकी वजह से लोगों में दिमागी रूप से तनाव बढ़ता जा रहा हैं। शराब हमारे दिमाग पर नकारात्मक प्रभाव डालती है। इसके सेवन से लीवर का खराब होना तो वहीं कुछ लोगों में हार्मोनल बदलाव भी देखने को मिलते हैं।

कुछ नौजवान शराब पीकर तेज रफ्तार में गाड़ी चलाते हैं जिससे एक्सीडेंट जैसी घटनाओं के आंकड़े बढ़ते जा रहे हैं।

ताजा रिपोर्ट की मानें तो भारत में शराब पीने और खरीदने के लिए आपका 21 साल का होना जरूरी है और साथ ही शराब देने से पहले उनके आईडी की भी जांच जरुरी कर दी गई है।

क्या है अलग देशों की लीगल एज

वैसे तो हर देश का अपना अपना कानून है और सभी अपने कानून के हिसाब से शराब खरीदने और पीने की उम्र तय करते हैं। हर कानून का इस्तेमाल हर देश के लोगों को देखकर बनाया जाता हैं। बात अगर अफ्रीका की करें तो वहां की कानूनी एज 16 साल है। वहीं साउथ अफ्रीका की 18 साल और इजिप्ट की 21 साल है। ज्यादातर कानून सार्वजनिक जगहों पर शराब के सेवन को लेकर बनाए गए हैं तो वही निजी स्थानों पर शराब के सेवन को लेकर उनकी उम्र का अवलोकन किया गया है।