मनीष सिसोदिया लगाया आरोप, सीबीआई पूछताछ के दौरान उन पर आप छोड़ने का डाला गया दबाव

दिल्ली के उपराज्यपाल वीके सक्सेना से जांच के लिए हरी झंडी मिलने के बाद अगस्त में सिसोदिया के घर पर एजेंसी ने कई बार छापेमारी की थी।

दिल्ली के उपमुख्यमंत्री मनीष सिसोदिया ने दावा किया है कि उन पर आम आदमी पार्टी छोड़ने और भाजपा में शामिल होने के लिए आज केंद्रीय जांच ब्यूरो के मुख्यालय में दबाव डाला गया, जहां उनसे दिल्ली सरकार की शराब नीति के बारे में पूछताछ की जानी थी। उन्होंने कहा कि अधिकारियों ने तो यहां तक सुझाव दिया था कि उन्हें मुख्यमंत्री पद की पेशकश भी की जाएगी। हालांकि सीबीआई ने आरोपों से इनकार किया है।

वहीं एजेंसी ने कहा कि सीबीआई इन आरोपों का खंडन करती है और सिसोदिया से एफआईआर में उनके खिलाफ लगे आरोपों के अनुसार कानूनी तरीके से जांच की गई थी तथा मामले की जांच कानून के मुताबिक जारी रहेगी।

बता दें कि सिसोदिया ने अपने आवास के बाहर रिपोर्टर्स से कहा कि आबकारी नीति के बारे में बात हुई लेकिन मुझ पर दबाव डाला गया।

सिसोदिया ने कहा कि अधिकारियों ने उन्हें समझाने के लिए दिल्ली के मंत्री सत्येंद्र जैन के खिलाफ मामले का हवाला भी दिया था। ये भी बता दें कि मनी लॉन्ड्रिंग के एक मामले में आरोपी जैन मई में गिरफ्तारी के बाद से जेल में हैं।