कॉमेडियन वीर दास के खिलाफ मुंबई पुलिस ने दर्ज की एफआईआर

मुंबई पुलिस ने कॉमेडियन वीर दास और नेटफ्लिक्स के खिलाफ कथित तौर पर कॉपीराइट कानूनों के उल्लंघन के लिए शिकायत दर्ज की है।

एक निर्माता की शिकायत के बाद मुंबई पुलिस ने स्टैंड-अप कॉमेडियन वीर दास, दो अन्य व्यक्तियों और ऑनलाइन स्ट्रीमिंग प्लेटफॉर्म नेटफ्लिक्स के खिलाफ कॉपीराइट नियमों के उल्लंघन के आरोप में एफआईआर दर्ज की है। जाने-माने थिएटर प्रोड्यूसर अश्विन गिडवानी ने अपनी पुलिस शिकायत में कहा कि अक्टूबर 2010 में उनकी कंपनी ने एक शो के निर्माण के लिए वीर के साथ एक अनुबंध पर हस्ताक्षर किए थे।

कफ परेड पुलिस स्टेशन के एक अधिकारी ने कहा कि जनवरी 2020 में, जब गिडवानी ने नेटफ्लिक्स पर वीर दास के एक नए शो का प्रोमो देखा, तो निर्माता ने महसूस किया कि कुछ सामग्री को कथित तौर पर पिछले शो से कॉपी किया गया था। अधिकारी ने बताया कि गिडवानी की शिकायत के आधार पर चार नवंबर को दास, दो अन्य व्यक्तियों और नेटफ्लिक्स सेवा के खिलाफ कॉपीराइट अधिनियम के प्रासंगिक प्रावधानों के तहत मामला दर्ज किया गया था। उन्होंने बताया कि अभी तक किसी की गिरफ्तारी नहीं हुई है और मामले की जांच की जा रही है।

वहीं सोमवार को ‘हिंदू जनजागृति समिति’ ने बेंगलुरु में पुलिस से संपर्क किया तथा वीर दास के एक शो को रद्द करने की मांग करते हुए आरोप लगाया कि यह हिंदुओं की धार्मिक भावनाओं को आहत करेगा और भारत को दुनिया के सामने खराब दिखाएगा। पिछले साल भी, दास के खिलाफ उनके एक वीडियो को लेकर पुलिस में शिकायत दर्ज की गई थी, जिसके बाद कॉमेडियन ने एक बयान जारी कर कहा था कि उनकी टिप्पणियों का उद्देश्य देश का अपमान करना नहीं था।