नेशनल हेराल्ड के दफ्तर पर पड़ा छापा, कांग्रेस ने कहा, ‘हमें चुप नहीं करा सकते’

यंग इंडियन द्वारा एसोसिएटेड जर्नल्स लिमिटेड (एजेएल) के अधिग्रहण से जुड़े “नेशनल हेराल्ड केस” में गांधी परिवार की जांच की जा रही है।

प्रवर्तन निदेशालय द्वारा नेशनल हेराल्ड अखबार से जुड़े मनी लॉन्ड्रिंग मामले में कांग्रेस अध्यक्ष सोनिया गांधी से पूछताछ के कुछ दिनों बाद, जांच एजेंसी आज दिल्ली में अखबार के कार्यालयों और एसोसिएटेड जर्नल्स लिमिटेड से जुड़े कई अन्य परिसरों सहित लगभग 12 जगहों पर छापेमारी कर रही है।

सूत्रों का कहना है कि जांच एजेंसी तलाशी के बाद मामले से जुड़ी संपत्तियों को कुर्क कर सकती है। वहीं कांग्रेस ने पलटवार करते हुए कहा कि महंगाई और बेरोजगारी जैसे अहम मुद्दों पर विपक्ष के सवालों ने सरकार को बैकफुट पर ला दिया है। पार्टी ने कहा कि वे देश के लोगों को जवाब देने में असमर्थ हैं इसलिए वे असहज सवाल पूछने वालों को अपमानित करने और ब्लैकमेल करने की कोशिश कर रहे हैं।

वहीं कांग्रेस प्रवक्ता सैयद नसीर हुसैन ने कहा कि सिर्फ कांग्रेस ही नहीं बल्कि कई विपक्षी दलों के नेताओं को परेशान किया जा रहा है लेकीन पुरानी पार्टी झुकेगी नहीं।

बता दें कि पिछले महीने सोनिया गांधी से तीन दिनों में 12 घंटे में 100 से अधिक प्रश्न पूछे गए थे तथा उनके बेटे और कांग्रेस सांसद राहुल गांधी से पहले पांच दिनों तक पूछताछ की गई थी और करीब 150 सवाल पूछे गए थे।

ये भी बता दें कि भारत के पहले प्रधानमंत्री जवाहरलाल नेहरू द्वारा स्थापित नेशनल हेराल्ड अखबार चलाने वाली कंपनी एसोसिएटेड जर्नल्स लिमिटेड (एजेएल) के यंग इंडियन के अधिग्रहण से जुड़े “नेशनल हेराल्ड केस” में गांधी परिवार की जांच की जा रही है।