Home मनोरंजन सोनी सब के ‘आंगन – अपनों का’ में, नीता शेट्टी अपने किरदार...

सोनी सब के ‘आंगन – अपनों का’ में, नीता शेट्टी अपने किरदार पर कहती हैं: एक अभिनेत्री और करियर-उन्मुख महिला होने के नाते, मैं दीपिका से मिलती-जुलती हूं

मुंबई। सोनी सब के बहुप्रतीक्षित शो ‘आंगन – अपनों का’ में, दर्शकों को दिल छू लेने वाली एक कहानी देखने को मिलेगी, जो एक सिंगल पिता और उसकी तीन बेटियों के साथ उसके अटूट रिश्ते के इर्द-गिर्द घूमती है। महेश ठाकुर प्यारे पिता जयदेव शर्मा की भूमिका निभा रहे हैं, जबकि आयुषी खुराना सबसे छोटी बेटी पल्लवी शर्मा का किरदार खूबसूरती से निभा रही हैं। कहानी में गहराई जोड़ते हुए नीता शेट्टी, शर्मा परिवार की सबसे बड़ी बेटी दीपिका शर्मा की भूमिका निभा रही हैं।
एक व्यावहारिक बातचीत में, नीता शेट्टी ने शो के अनूठे विषय पर प्रकाश डाला और बताया कि उनका किरदार कैसे उनसे मेल खाता है और भी बहुत कुछ।
1. क्या आप हमें दीपिका के किरदार के बारे में बता सकती हैं और क्या बात उसे शर्मा परिवार में अनूठा बनाती है?
दीपिका शर्मा परिवार की सबसे बड़ी बेटी है। वह मजबूत, आत्मविश्वासी, करियर-उन्मुख और दयालु है। पारिवारिक ज़िम्मेदारियों के साथ अपने करियर को संतुलित करने की उसकी असाधारण क्षमता उसे अलग बनाती है। अपने पेशेवर जीवन पर ध्यान देने के बावजूद, वह अपने परिवार, पति और बहनों को समान महत्व देती है। वह एक साथ कई काम कर सकती है और अपने जीवन में सभी को प्राथमिकता दे सकती है, जो कि उसकी विशिष्टता है।
2. आप दीपिका के किरदार से कैसे कनेक्ट होती हैं, और ऑनस्क्रीन यह किरदार निभाने को लेकर आपको क्या उत्साहित करता है?
एक अभिनेत्री के रूप में, मैं एक करियर-उन्मुख महिला हूं और सफलता व पेशेवर विकास के लिए दीपिका की मुहिम से कनेक्ट करती हूं। उसकी तरह, मेरे भी छोटे भाई-बहन हैं जिनकी मैं अपनी काम को संभालते हुए देखभाल करती हूं। इस किरदार को निभाने से मुझे उन महिलाओं के उस वर्ग को प्रदर्शित करने का अवसर मिला है, जो पूरे दिल से अपने करियर और अपने परिवार दोनों के लिए खुद को समर्पित करती हैं और अपनी विविध भूमिकाओं में संतुलन बनाती हैं, और यही बात मुझे सबसे ज्यादा उत्साहित करती है।
3. ‘आंगन – अपनों का’ के मूल संदेश के बारे में आप क्या सोचती हैं?
आंगन एक पिता और उसकी बेटियों के बीच के सच्चे और अनुरागी बंधन को खूबसूरती से दर्शाता है, और इन रिश्तों की बारीकियों को कुशलता से प्रदर्शित करता है। मूल रूप से, यह शो शादी के संबंध में सबसे छोटी शर्मा बहन पल्लवी के अनूठे नज़रिये पर केंद्रित है। यह सवाल उठाते हुए कि महिलाओं को शादी के बाद बेटियों के रूप में अपनी भूमिका क्यों छोड़नी पड़ती है, यह शो इस बात पर ज़ोर देता है कि पल्लवी के विचार गलत नहीं हैं; वे बस अनोखे हैं। बहनों के
2 / 2
बीच के बंधन से लेकर उनके पिता के साथ घनिष्ठ संबंध तक, यह शो दिल छू लेने वाली और भरोसेमंद कहानी पेश करता है।
4. क्या आप हमें शर्मा बहनों दीपिका, तन्वी और पल्लवी के रिश्ते के बारे में बता सकती हैं?
शर्मा बहनों के बीच का रिश्ता आधुनिक, समसामयिक परिवेश को दर्शाता है। वे घनिष्ठ संबंध बनाए रखते हुए लगातार जुड़े रहते हैं, चाहे वीडियो कॉल के ज़रिये हो या चैट के ज़रिये। सबसे बड़ी होने के नाते, दीपिका स्वाभाविक रूप से केयरटेकर की भूमिका निभाती है, जो सुरक्षात्मक और कभी-कभी सकारात्मक तरीके से सख्त होती है। तीनों बहनों के बीच का संबंध मौज-मस्ती और अंतहीन चिढ़ाने से लेकर कभी-कभार होने वाले ड्रामा तक है, जो इसे आधुनिक बहनों के बंधन का एक प्रासंगिक चित्रण बनाता है। उनके इंटरैक्शन युवाओं और परिवारों दोनों को पसंद आएंगे।
5. यह प्रोमो शर्मा परिवार में बहुत मजबूत बंधन दिखाता है। महेश ठाकुर, आयुषी और अदिति के साथ शूटिंग करने का आपका अनुभव कैसा रहा?
महेश ठाकुर, आयुषी और अदिति के साथ काम करने का अनुभव मज़ेदार रहा है। मुझे वह पहला दिन याद है जब हम सेट पर मिले थे और हम ऐसे घुलमिल गए जैसे कि हम एक-दूसरे को लंबे समय से जानते हों। अदिति और आयुषी दोनों के साथ, ऐसा लगता है जैसे हम सिर्फ रील लाइफ में ही नहीं, बल्कि रियल लाइफ में भी बहनें हैं। हम सेट पर खूब मस्ती करते हैं। महेश सर से हमें बहुत कुछ सीखने को मिलता है क्योंकि वह सेट पर वर्षों का अनुभव लेकर आते हैं। हम वास्तव में ऑन और ऑफ़ स्क्रीन एक बड़ा परिवार हैं।

Exit mobile version