न तो स्मृति ईरानी और न ही उनकी बेटी के पास है गोवा कैफे: दिल्ली हाईकोर्ट

कांग्रेस ने 23 जुलाई को आरोप लगाया था कि जोइश ईरानी द्वारा गोवा में एक अवैध बार चलाया जा रहा है। कांग्रेस प्रवक्ता पवन खेरा ने कहा था कि ईरानी के परिवार पर भ्रष्टाचार के गंभीर आरोप हैं और उनकी बेटी गोवा में कथित तौर पर एक रेस्तरां चला रही हैं, जिसमें एक बार फर्जी लाइसेंस पर काम कर रहा था।

दिल्ली उच्च न्यायालय ने सोमवार को कहा कि न तो केंद्रीय मंत्री स्मृति ईरानी और न ही उनकी 18 वर्षीय बेटी जोइश गोवा में रेस्तरां के मालिक हैं, जबकि पवन खेड़ा सहित कांग्रेस नेताओं पर झूठे तीखे और जुझारू व्यक्तिगत हमलों का तीखा हमला करने का आरोप लगाया।

बता दें कि कांग्रेस ने 23 जुलाई को आरोप लगाया था कि जोइश ईरानी द्वारा गोवा में एक अवैध बार चलाया जा रहा है। कांग्रेस प्रवक्ता पवन खेरा ने कहा था कि ईरानी के परिवार पर भ्रष्टाचार के गंभीर आरोप हैं और उनकी बेटी गोवा में कथित तौर पर एक रेस्तरां चला रही है, जिसमें एक बार फर्जी लाइसेंस पर काम कर रहा था।

कांग्रेस ने मांग की है कि स्मृति ईरानी को नरेंद्र मोदी कैबिनेट से बर्खास्त किया जाए। ईरानी ने पलटवार करते हुए कांग्रेस के आरोपों को खारिज करते हुए कहा कि उनकी बेटी को निशाना बनाया जा रहा है। ईरानी ने पवन खेड़ा और कांग्रेस नेताओं जयराम रमेश और नेट्टा डिसूजा के खिलाफ कथित तौर पर उनके और ज़ोइश ईरानी के खिलाफ बेबुनियाद और झूठे आरोप लगाने के लिए 2 करोड़ का मानहानि का मुकदमा भी दायर किया था।

ये भी बता दें कि पिछले हफ्ते शुक्रवार को दिल्ली उच्च न्यायालय ने कांग्रेस नेताओं जयराम रमेश, पवन खेरा और नेट्टा डिसूजा को समन जारी किया था और उन्हें केंद्रीय मंत्री और उनकी बेटी के खिलाफ लगाए गए आरोपों पर ट्वीट और अन्य सोशल मीडिया पोस्ट को हटाने के लिए कहा था।