यू नहीं पांचवीं बार सत्ता में लौटे हैं पुतिन !

 

मास्को। व्लादिमीर पुतिन लगातार पांचवीं बार रूस के राष्ट्रपति पद का चुनाव जीत गए हैं। उन्होंने करीब 88 फीसदी वोटों के साथ चुनाव में जीत दर्ज की है। रूस के केंद्रीय चुनाव आयोग ने सोमवार को कहा कि देश में हुए राष्ट्रपति पद के चुनाव में व्लादिमीर पुतिन ने जीत दर्ज की है। उन्होंने रिकॉर्ड वोट प्रतिशत के साथ राष्ट्रपति पद का पांचवां कार्यकाल हासिल किया है। गौरतलब है कि 71 साल के पुतिन 1999 से एक बार भी चुनाव नहीं हारे।

बहरहाल, रूस के केंद्रीय चुनाव आयोग ने सोमवार को कहा कि सौ फीसदी क्षेत्रों में पड़े मतों की गिनती कर ली गई है और पुतिन को 87.29 फीसदी वोट मिले हैं। आयोग की प्रमुख एला पैम्फिलोवा ने कहा कि पुतिन के लिए करीब 7.6 करोड़ लोगों ने मतदान किया है, जो उन्हें हासिल अब तक के सबसे ज्यादा वोट हैं। इस चुनाव में पुतिन की जीत देश की राजनीतिक व्यवस्था पर उनके नियंत्रण को बताती है।

पुतिन के सामने नाममात्र के सिर्फ तीन उम्मीदवार थे। यूक्रेन युद्ध का विरोध करने वाले किसी भी व्यक्ति को पुतिन के खिलाफ चुनाव लड़ने की अनुमति नहीं दी गई थी। गौरतलब है कि व्लादिमीर पुतिन दिसंबर 1999 से राष्ट्रपति या प्रधानमंत्री के तौर पर रूस का नेतृत्व कर रहे हैं। वे पहली बार साल 2000 में रूस के राष्ट्रपति बने थे। 2008 तक वे इस पद पर रहे। उसके बाद 2012 में तत्कालीन राष्ट्रपति मेदवेदेव ने अपनी पार्टी से पुतिन को एक बार फिर राष्ट्रपति उम्मीदवार के लिए नॉमिनेट करने को कहा। इसके बाद 2012 के चुनाव में पुतिन ने जीत हासिल की। तब से अब तक वो राष्ट्रपति पद पर हैं। बाद में उन्होंने दो बार से ज्यादा राष्ट्रपति नहीं रहने के कानून को बदल दिया।