Home पॉलिटिक्स हरियाणा की जनता भी चाहती है दिल्ली और पंजाब की तर्ज पर...

हरियाणा की जनता भी चाहती है दिल्ली और पंजाब की तर्ज पर मुफ्त इलाज और वर्ल्ड क्लास अस्पताल: डॉ. सुशील गुप्ता

पंजाब में खुल चुके हैं 700 से ज्यादा मोहल्ला क्लिनिक, बेहतर सुविधाओं के साथ मिलता है फ्री इलाज और दवाइयां : डॉ. सुशील गुप्ता


बहादुरगढ़।
आम आदमी पार्टी के प्रदेश अध्यक्ष और राज्यसभा सांसद डॉ. सुशील गुप्ता ने गुरुवार को बदलाव यात्रा के सातवें दिन बहादुरगढ़ में प्रेस वार्ता की। उनके साथ प्रदेश महिला विंग अध्यक्ष डॉ. रजनीश जैन, यूथ विंग के प्रदेश उपाध्यक्ष नवीन जून, जिला अध्यक्ष हरीश कुमार भी मौजूद रहे।

डॉ. सुशील गुप्ता ने कहा कि प्रदेश के अलग अलग जिलों से आम आदमी पार्टी की बदलाव यात्रा निकाल रही है। जनता अपने घरों से निकल कर आम आदमी पार्टी को समर्थन कर रही है। लोग फूलमालाओं के साथ बदलाव यात्रा का स्वागत कर रहे हैं।
उन्होंने कहा कि प्रदेश के स्वास्थ्य इन्फ्रास्ट्रक्चर की हालत बिल्कुल खस्ता हो चुकी है। खट्टर सरकार ने प्रदेश के अस्पतालों को ही बीमार कर दिया है।

उन्होंने कहा कि खट्टर सरकार लगातार वायदे भी करती है, घोषणाएं भी करती है। धरातल पर कुछ नहीं हो पाता। प्रदेश के अस्पतालों की हालत बिल्कुल जर्जर हो चुकी है। गुरुग्राम सिविल हॉस्पिटल बनाने की घोषणा पांच साल पहले हुई थी। अब तक एक ईंट नहीं रखी गई है। अस्पतालों में रखी लाखों की मशीनें कबाड़ में बदल चुकी है।

उन्होंने कहा कि केंद्र सरकार ने पूरे प्रदेश में 500 जन औषधि केंद्र खोलने की घोषणा की। धरातल पर केवल 93 बने और इनमें से भी 58 बंद हो चुके हैं। जनता को पांच गुना दामों पर दवाई खरीदनी पड़ती है। स्वास्थ्य सेवा ही नहीं चिकित्सकों की भी कोई सुनवाई नहीं होती है। अभी पिछले दिनों ही चरखीदादरी के सरकारी अस्पताल में टॉर्च की रोशनी में डिलीवरी करवाई गई। लगभग पूरे प्रदेश के अस्पतालों का यही हाल है। कहीं बिजली नहीं है, कहीं डॉक्टर नहीं है और कहीं अस्पतालों में बेड नहीं है।

उन्होंने कहा कि 2014 में प्रधानमंत्री मोदी रेवाड़ी में एम्स बनाने की घोषणा करके गए थे, लेकिन अभी तक नींव की ईंट भी नहीं रखी गई है। मुख्यमंत्री खट्टर और स्वास्थ्य मंत्री अनिल विज की लड़ाई ने प्रदेश के स्वास्थ्य सेवाओं का बेड़ा गर्क करने का काम किया है। पीजीआईएमएस जैसे बड़े संस्थानों में भी न चिकित्सक हैं और न ही दवाइयां उपलब्ध हैं। 50 प्रतिशत से ज्यादा चिकित्सकों के पद खाली हैं। प्रदेश में स्वास्थ्य इमरजेंसी की स्थिति है। जनता प्राइवेट अस्पतालों के भरोसे रहने को मजबूर है।

उन्होंने कहा कि वहीं दिल्ली में आम आदमी पार्टी ने वर्ल्ड क्लास अस्पताल बनाने का काम किया है। जनता को एक हजार, एक लाख से 1 करोड़ तक का इलाज फ्री में मिलता है। वहीं पंजाब के स्वास्थ्य बजट में भी 400 प्रतिशत की वृद्धि की है। 700 से ज्यादा मोहल्ला क्लिनिक खुल चुके हैं। आधुनिक सुविधाएं के साथ फ्री दवाइयां मिलती हैं। हर तरीके की बीमारी का इलाज मुफ्त मिलता है।

उन्होंने कहा कि पहले प्रधानमंत्री मोदी और बीजेपी चुनावों में बड़े बड़े वादे करती थी और बाद में वो जुमला साबित हो जाता था। अब इन्होंने केजरीवाल से गारंटी शब्द तो चुराया, लेकिन अब वो गारंटी भी चुनावी में जुमला साबित हुआ। हरियाणा के मुख्यमंत्री खट्टर भी राजस्थान के चुनावों के जगह जगह ये घोषणा कर रहे थे कि बीजेपी की सरकार बनी तो 450 रुपए में गैस सिलेंडर देंगे, 2700 रुपए में गेंहू खरीदेंगे और 12वीं पास छात्रा को स्कूटी देने का काम करेंगे। उन्होंने कहा की संसद में पेट्रोलियम मंत्री रामेश्वर तेली ने जवाब दिया है कि राजस्थान में 450 रुपए में सिलेंडर नहीं मिलेगा। इससे साबित होता है कि ये महज बीजेपी पार्टी का जुमला था।

Exit mobile version