Home राष्ट्रीय PM Modi : विपक्षी दलों पर गरजे पीएम मोदी, जताई राजनीतिक अस्थिरता...

PM Modi : विपक्षी दलों पर गरजे पीएम मोदी, जताई राजनीतिक अस्थिरता की आशंका

प्रधानमंत्री ने कहा कि भाजपा के संस्कार हैं कि वह हर व्यक्ति तक पहुंचती है और उसकी आवश्यकताओं की पूर्ति के लिए पूरी संवेदनशीलता के साथ काम करती है।

नई दिल्ली। पांच राज्यों में विधानसभा चुनाव हो रहा है। प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी (PM Narndra Modi) जहां भी चुनावी मंचों पर होते हैं, विपक्षी दलों पर खूब गरजते हैं। इसी क्रम में प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी (PM Narndra Modi) ने सीधेतौर पर विपक्षी दलों पर देश में राजनीतिक अस्थिरता पैदा करने का आरोप लगा दिया। उन्होंने कहा कि उनकी सरकार के खिलाफ एक सोची-समझी रणनीति के तहत भ्रम व अफवाहें फैलाने की साजिश रची जा रही है। ऐसे प्रयासों से देश को लंबे समय तक नुकसान पहुंचेगा।

बता दें कि आज प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी (PM Narndra Modi) भारतीय जनता पार्टी कें 41वें स्थापना दिवस (BJP sthapna Diwas) पर पार्टी कार्यकर्ताओं को संबोधित कर रहे थे। उन्होंने वीडियो कॉन्फ्रेंस के माध्यम से पार्टी कार्यकर्ताओं से कहा कि किसानों की जमीन छिन जाने, आरक्षण समाप्त करने, नागरिकता खत्म करने जैसे काल्पनिक भय दिखाकर कुछ दल और संगठन लोगों को भ्रमित करते रहते हैं। उन्होंने कहा कि देश में छोटे किसानों की संख्या लगभग 10 करोड़ से भी अधिक है लेकिन पहले की सरकारों के लिए वे कभी प्राथमिकता में नहीं रहे। उन्होंने कहा कि बीते वर्षों में हमारी सरकार की कृषि से जुड़ी हर योजना के केंद्र में छोटे किसान रहे। वो चाहे नए कृषि कानून (Farmer Law) हों, पीएम किसान सम्मान निधि हो या किसान उत्पाद संगठनों की व्यवस्था हो। या फिर फसल बीमा योजना और आपदा के समय ज्यादा मुआवजा सुनिश्चित करना।

पीएम मोदी (PM Narndra Modi) ने दावा किया कि कृषि संबंधी सरकार की हर योजना का लाभ देश के छोटे किसानों को हुआ है। बता दें कि दिल्ली की विभिन्न सीमाओं पर तीन नये केंद्रीय कृषि कानूनों के खिलाफ लगभग 180 दिनों से प्रदर्शन चल रहा है।

प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी (PM Narndra Modi) ने कहा कि आज एक प्रकार का सिलसिला शुरू हुआ है… एक नई प्रकार की व्यूह रचना सार्वजनिक जीवन में आई है। आज गलत विमर्श बनाए जाते हैं। कभी सीएए (नागरिकता संशोधन कानून) को लेकर, कभी कृषि कानूनों को लेकर तो कभी श्रम कानूनों को लेकर। उन्होंने कहा, ‘‘कभी कहा जाता है कि संविधान बदल दिया जाएगा, कभी कहा जाता है कि आरक्षण समाप्त कर दिया जाएगा, कभी कहा जाता है नागरिकता छीन ली जाएगी तो कभी कहा जाता है किसानों की जमीन छीन ली जाएगी।’’

प्रधानमंत्री ने कहा, ‘‘इसके पीछे सोची-समझी राजनीति है। यह एक बहुत बड़ा षड्यंत्र है। इसका मतलब है देश में राजनीतिक अस्थिरता पैदा करना। इसलिए देश में तरह-तरह की अफवाहें फैलाई जाती है, भ्रम फैलाये जाते हैं, झूठ फैलाया जाता है। काल्पनिक मायाजाल खड़ा किया जाता।’’ इसे एक ‘‘गंभीर चुनौती’’ बताते हुए उन्होंने भाजपा कार्यकर्ताओं से आग्रह किया कि वे जनता के बीच जाकर इन साजिशों का पर्दाफाश करने के लिए जागरूकता अभियान चलाएं।

Exit mobile version