पीएम मोदी ने कहा ‘भारत के डेयरी सेक्टर में महिलाएं हैं असली नेता’

पीएम मोदी ने आगे कहा, “हमारे वैज्ञानिकों ने लम्पी स्किन डिजीज के लिए स्वदेशी वैक्सीन भी तैयार की है। 2014 में, भारत ने 146 मिलियन टन दूध का उत्पादन किया था जो अब बढ़कर 210 मिलियन टन हो गया है।

प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने डेयरी समिट में सोमवार को कहा कि महिलाएं भारत के डेयरी सेक्टर की असली लीडर हैं। ग्रेटर नोएडा में पीएम मोदी ने इंडिया एक्सपो सेंटर और मार्ट में इंटरनेशनल डेयरी फेडरेशन के वर्ल्ड डेयरी समिट 2022 का उद्घाटन किया।

उद्घाटन में मोदी ने कहा, “महिलाएं 70% कार्यबल का नेतृत्व करती हैं। दैनिक सहकारी समितियों में 1/3 सदस्य महिलाएं हैं। प्रेरक शक्ति ग्रामीण भारत में रहने वाली महिला किसान हैं जिन्होंने भारतीय डेयरी क्षेत्र में बहुत योगदान दिया है।”

साथ ही प्रधानमंत्री मोदी ने यह भी कहा कि केंद्र राज्यों के साथ-साथ मवेशियों में फैल रहे त्वचा रोग को नियंत्रित करने के प्रयास कर रहा है। कई राज्य मवेशियों में फैले इस ढेलेदार त्वचा रोग से जूझ रहे हैं और यह बीमारी डेयरी क्षेत्र के लिए चिंता का विषय बनकर उभरी है।

पीएम मोदी ने आगे कहा, “हमारे वैज्ञानिकों ने लम्पी स्किन डिजीज के लिए स्वदेशी वैक्सीन भी तैयार की है। 2014 में, भारत ने 146 मिलियन टन दूध का उत्पादन किया था जो अब बढ़कर 210 मिलियन टन हो गया है। यानी करीब 44 फीसदी की बढ़ोतरी हुई है।“

वहीं, पीएमओ के अनुसार भारतीय डेयरी उद्योग विश्व के कुल दूध का लगभग 23 प्रतिशत उत्पादन करता है।