दिल्ली एनसीआर में एंटी-रेबीज वैक्सीन के मामलों में हुई तेजी से बढ़ोतरी, लगातार बढ़ रहे हैं मामले

एनिमल्स डॉक्टरों के अनुसार इस दौरान कुत्तों में हार्मोन्स का बदलाव होता है, इस वजह से भी आवारा कुत्ते अग्रेसिव हो जाते हैं।

दिल्ली-एनसीआर के क्षेत्रों में इन दिनों आवारा कुत्तों  का आतंक बढ़ गया है। हाल ही के दिनों में कुत्ता काटने के बहुत से केस आए हैं। इन दिनों सरकारी अस्पतालों में एंटी रेबीज वैक्सीन लगवाने  वाले लोगों की गिनती काफी बढ़ी है। सरकारी अस्पताल में कुत्ते के काटने के बाद जो लोग इंजेक्शन लगवाने आ रहे हैं, उनके आंकड़े हैरान करने वाले हैं।

जुलाई महीने की अगर हम बात करें तो सिर्फ एक सरकारी अस्पताल में 1626 लोगों को यह वैक्सीन लगी है। और अगस्त महीने में 1980 और 13 सितम्बर तक 1913 लोगों को कुत्ते काटने का इंजेक्शन लग चुका है।

दरअसल बारिश के समय कुत्ते आक्रामक हो जाते हैं। एनिमल्स डॉक्टरों के अनुसार इस दौरान कुत्तों में हार्मोन्स का बदलाव होता है, इस वजह से भी आवारा कुत्ते अग्रेसिव हो जाते हैं। इन्हीं कारणों की वजह से कुत्तों के  काटने के मामले बढ़ जाते हैं।