सुप्रीम कोर्ट ने रेप केस में बीजेपी नेता शाहनवाज हुसैन के खिलाफ एफआईआर दर्ज करने के आदेश पर लगाई रोक

शीर्ष अदालत ने दिल्ली सरकार सहित हितधारकों से जवाब मांगा है और अब मामले की सुनवाई सितंबर के तीसरे सप्ताह में होगी।

सुप्रीम कोर्ट ने साल 2018 में एक महिला द्वारा दर्ज कराए गए रेप के मामले में बीजेपी नेता शाहनवाज हुसैन के खिलाफ एफआईआर दर्ज करने के दिल्ली हाईकोर्ट के आदेश पर रोक लगा दी है। शीर्ष अदालत ने दिल्ली सरकार सहित हितधारकों से जवाब मांगा है और अब मामले की सुनवाई सितंबर के तीसरे सप्ताह में होगी।

उच्च न्यायालय ने 17 अगस्त को हुसैन की उस याचिका को खारिज कर दिया था जिसमें निचली अदालत के दिल्ली पुलिस को उसके खिलाफ प्राथमिकी दर्ज करने का निर्देश देने वाले आदेश को चुनौती दी गई थी, जिसमें कहा गया था कि 2018 के आदेश में कोई गड़बड़ी नहीं है और ऑपरेशन पर रोक लगाने वाले अपने पहले के अंतरिम आदेश को रद्द कर दिया।

बता दें कि 2018 में, दिल्ली की एक महिला ने निचली अदालत में हुसैन के खिलाफ बलात्कार के आरोप में एफआईआर दर्ज करने की मांग की थी। वहीं, एक मजिस्ट्रेट अदालत ने 7 जुलाई 2018 को हुसैन के खिलाफ एफआईआर दर्ज करने का आदेश दिया था। इसे भाजपा नेता ने सत्र अदालत में चुनौती दी थी लेकीन कोर्ट ने उनकी याचिका को खारिज कर दिया था।