जोशीमठ के डूबने की याचिका पर सुप्रीम कोर्ट 16 जनवरी को करेगा सुनवाई

 

सुप्रीम कोर्ट मंगलवार को उत्तराखंड में जोशीमठ “भूमि डूबने” की घटना से संबंधित एक याचिका पर 16 जनवरी को सुनवाई करने पर सहमत हो गया है।

वहीं भारत के मुख्य न्यायाधीश डी. वाई. चंद्रचूड़ ने कहा कि लोकतांत्रिक संस्थाएं जमीनी स्तर पर स्थिति का ध्यान रख रही हैं। मुख्य न्यायाधीश चंद्रचूड़ ने अधिवक्ता परमेश्वर नाथ मिश्रा से कहा कि “संस्थाएं हैं जो देखभाल कर रही हैं।“

बता दें कि याचिका बड़े पैमाने पर औद्योगीकरण को कारण बताते हुए इस घटना को राष्ट्रीय आपदा घोषित करने की मांग करती है। इसने प्रभावित लोगों के लिए तत्काल वित्तीय सहायता और मुआवजे की मांग की है। इसने इस चुनौतीपूर्ण समय में जोशीमठ के निवासियों को सक्रिय रूप से समर्थन देने के लिए राष्ट्रीय आपदा प्रबंधन प्राधिकरण को निर्देश देने की भी मांग की है।