नेपाल बॉर्डर के रास्ते भारत में घुसे दो चीनी नागरिकों ने की घुसपैठ, 15 दिनों तक आराम से नोएडा में घूमे, पुलिस और सुरक्षा एजेंसियों को नहीं लगी सुध

शनिवार को नेपाल बॉर्डर के रास्ते दो चीनी नागरिकों को SSB ने पकड़ा है, जिसके बाद से खलबली मची हुई है। हैरत इस बात की है कि दोनों 15 दिनों तक नोएडा और आसपास के इलाके में घूमते रहे लेकिन किसी को खबर तक नहीं हुई। जांचमें सामने आयाहै कि दोनों चीनी नागरिक 24 मई को नेपाल बॉर्डर से भारत में अवैध तरीके से घूसे थे।

घुसपैठ के लिए अपनाया अजीब तरीका

दोनों चीनी नागरिक पहले प्लेन से थाईलैंड पहुँचे थे। जिसके बाद वे वहाँ से नेपाल के काठमांडु गए और फिर साइकिल पर सवार होकर 24 मई को भारतीय सीमा में नेपाल बॉर्डर के रास्ते घुसे। भारत में आकर दोनों ने एक कार रेंट पर ली और अपने दोस्त से मिलने नोएडा गए जिसका नाम कैरी बताया जा रहा है। इस मामले में नोएडा पुलिस ने भी जांच शुरू कर दी है और पता लगा रही है कि वे नोएडा में कहाँ पर रहे, किन लोगों से मिले और उनका उद्देश्य क्या था?

एसएसबी ने वापस जाते समय दबोचा

दोनों आरोपी 15 दिनों तक नोएडा और आसपास के इलाके में घूमते रहे और शनिवार को वापस जाने के लिए फिर से कार रेंट पर ली और नेपाल बॉर्डर पहुंचे। दोनों को पैदल बॉर्डर पार करते हुए देखकर SSB टीम ने दोनों को दबोच लिया। पूछताछ में चीनी नागरिकों की पहचान लू लैंग (30) और यू हेलेंग (32) के रूप में हुई है। SSB टीम ने दोनों को बिहार सीतामढ़ी के सुरसंड थाने की पुलिस को सौंप दिया है।

आधा दर्जन भारतीय सिम हुई बरामद

जानकारी के अनुसार, दोनों चीनी युवकों के पास से आधा दर्जन भारतीय सिम कार्ड बरामद हुए हैं। अभी माना जा रहा है कि दोनों भारत में वित्तीय जालसाजी कर रहे थे। अब पुलिस की जांच में ही पुष्टि होगी कि मामला वित्तीय जालसाजी का है या दोनों कुछ और करने भारत आए थे।

पहले भी आ चुके हैं ऐसे मामले

यह कोई पहला मामला नहीं है बल्कि 2020 में भी एक चीनी नागरिक हवाला कारोबार के मामले में पकड़ा गया था। नई दिल्ली के मज़नू का टीला से भी ईडी ने जनवरी 2021 में दो चीनी नागरिक को मनी लॉन्ड्रिंग के केस में गिरफ्तार किया था।

ऑफिशियलस का बयान

सशस्त्र सीमा बल के ऑफीशियल ने मीडिया को बताया कि शनिवार शाम करीबन 6:45 बजे भारतीय बॉर्डर पार कर नेपाल जाने की कोशिश कर रहे इन दो चीनी नागरिक को सीमा स्तम्भ संख्या 301 से लगभग 10 मीटर भारत की तरफ से पकड़ा गया है। पुलिस घुसपैठियों से पूछताछ कर रही है और घुसपैठ के कारण का पता लगाने में जुटी हुई है।