UP Assembly Election 2022 : कांग्रेस ने जारी की पहली सूची, उन्नाव रेप पीड़िता की मां भी लड़ेंगी चुनाव

इस सूची में 40% महिलाएं और 40% युवा हैं। महिलाओं में कुछ पत्रकार, एक अभिनेत्री, कुछ संघर्षशील महिलाएं, ऐसी महिलाएं हैं जिन्होंने अपने जीवन में बहुत अत्याचार देखा और उसके खिलाफ लड़ा, कुछ समाजसेविकाएं हैं।

नई दिल्ली। उत्तर प्रदेश सरकार की नाकामियों पर प्रहार करने के उद्देश्य से अखिल भारतीय कांग्रेस कमेटी ने उन्नाव रेप पीड़िता की मां को भी विधानसभा चुनाव में अपना प्रत्याशी बनाया है। कांग्रेस महासचिव प्रियंका गांधी ने जब उत्तर प्रदेश विधानसभा चुनाव के लिए पहली सूची घोषित की, तो इसका विशेष जिक्र किया। इसके साथ ही उन्होंने कहा कि कांग्रेस पार्टी आज उत्तर प्रदेश विधानसभा चुनाव के लिए अपनी पहली सूची जारी करने जा रही है, 125 प्रत्याशियों की सूची है जिसमें से 50 महिलाएं हैं। हमने प्रयास किया है कि संघर्षशील और पूरे प्रदेश में नई राजनीति की पहल करने वाले प्रत्याशी हों।

उत्तर प्रदेश विधानसभा चुनाव के लिए कांग्रेस से पूरा दमखम लगा रही है। उत्तर प्रदेश में पार्टी का नेतृत्व प्रियंका गांधी कर रही हैं। इसी कड़ी में आज उत्तर प्रदेश चुनाव के लिए कांग्रेस की ओर से अपने उम्मीदवारों की पहली सूची जारी कर दी गई। पहली सूची में कुल 125 उम्मीदवार हैं जिनमें 40% महिलाओं को शामिल किया गया है। 125 उम्मीदवारों में 50 महिला उम्मीदवार हैं। कांग्रेस ने जिन लोगों को टिकट दिया है उनमें कुछ पत्रकार और समाजसेवी भी शामिल हैं। इसके साथ ही कांग्रेस के उम्मीदवारों की सूची में उन्नाव रेप पीड़िता की मां भी हैं। आपको बता दें कि उन्नाव रेप केस काफी बड़ा मामला हुआ था।

125 नामों की सूची में पूर्व केंद्रीय मंत्री और कांग्रेस के वरिष्ठ नेता सलमान खुर्शीद की पत्नी का भी नाम है। नोएडा से पार्टी ने पंखुड़ी पाठक को टिकट दिया है जबकि सदफ जाफर को भी उम्मीदवार बनाया गया है। सदफ जाफर ने एनआरसी CAA-NRC के खिलाफ आंदोलन में बढ़-चढ़कर हिस्सा लिया था। प्रियंका गांधी ने कहा कि हमने प्रयास किया है कि संघर्षशील और पूरे प्रदेश में नई राजनीति की पहल करने वाले प्रत्याशी हों। उन्होंने कहा कि इस सूची में 40% महिलाएं और 40% युवा हैं। महिलाओं में कुछ पत्रकार, एक अभिनेत्री, कुछ संघर्षशील महिलाएं, ऐसी महिलाएं हैं जिन्होंने अपने जीवन में बहुत अत्याचार देखा और उसके खिलाफ लड़ा, कुछ समाजसेविकाएं हैं। प्रियंका ने कहा कि हर चुनाव में हमने हर पार्टी में देखा है​ कि कुछ लोग आते हैं और कुछ लोग जाते हैं, कुछ लोग घबरा जाते हैं कि हो सकता है कि हम यहां से नहीं जीते। मुझे नहीं लगता कि ये ऐसी चीज है जिससे किसी भी पार्टी को घबराना चाहिए।
सोनभद्र नरसंहार के पीड़ितों में से एक रामराज गोंड को भी टिकट दिया है। आशा बहनों ने कोरोना में बहुत काम किया, लेकिन उन्हें पीटा गया। उन्हीं में से एक पूनम पांडेय को भी कांग्रेस द्वारा टिकट दिया है। आपको बता दें कि उत्तर प्रदेश में 7 चरणों में विधानसभा के चुनाव होने हैं। मुख्य मुकाबला समाजवादी पार्टी और भाजपा के बीच मानी जा रही है। हालांकि कांग्रेस पूरी तरीके से दमखम के साथ चुनावी मैदान में उतर रही है। उत्तर प्रदेश चुनाव को लेकर पार्टी चुनावी रणनीति पर भी काम कर रही है। सूत्र बता रहे हैं कि आगामी विधानसभा चुनाव को लेकर प्रियंका गांधी और राहुल गांधी उत्तर प्रदेश में दमखम लगा कर चुनाव प्रचार करेंगे।