Uttrakhand News : उत्तराखंड में बारिश ने मचाई है तबाही, अब तक 23 लोगों की हो चुकी है मौत

उत्तराखंड में भारी बारिश के बीच नदियों में उफान आया हुआ है और कई पुल गिर चुके हैं। बिगड़ते हालातों की वजह से उत्तराखंड में चारधाम यात्रा रोकनी पड़ी है। लगभग 5 हजार यात्री फंसे बताए गए हैं। अतिवृष्टि के कारण कई जगह मकान, पुल आदि क्षतिग्रस्त हो गए हैं। यहां 23 लोगों की जान चली गई। कई जिंदगियां अभी भी संकट में हैं।

देहरादून। बारिश ने एक बार फिर उत्तराखंड में तबाही मचा दिया है। कई जिले में बारिश का कोहराम जारी है। खबर लिखे जाने तक 23 लोगों की मौत की सूचना है। मुख्यमंत्री पुष्कर सिंह धामी लगातार राहत एवं बचाव कार्य का जायजा ले रहे हैं। राज्य में सहायता आदि के लिए प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी और केंद्रीय गृहमंत्री अमित शाह ने मुख्यमंत्री से बात की है। दोनों केंद्रीय नेताओं ने राज्य को हरसंभव मदद का आश्वासन दिया है।

बता दें कि हल्द्वानी में गौला नदी के पास काठगोदाम और दिल्ली को जोड़ने वाली रेलवे लाइन का एक हिस्सा आज भारी बारिश के दौरान क्षतिग्रस्त हो गया। उत्तराखंड के मुख्यमंत्री पुष्कर सिंह धामी ने भारी बारिश से प्रभावित इलाकों का हवाई सर्वेक्षण किया। बाद में उन्होंने रुद्रप्रयाग पहुंचकर नुकसान के आकलन की समीक्षा भी की। उनके साथ राज्य के मंत्री धन सिंह रावत और राज्य के डीजीपी अशोक कुमार भी थे। बादल फटने की घटना में कुछ मकान भी ढह गए। वहीं, लेमन ट्री रिजॉर्ट के आस-पास जल भराव हो गया। सरकार ने माना है कि अब तक 23 लोगों की मौत हो चुकी है।

हवाई सर्वेक्षण के बाद मुख्यमंत्री पुष्कर सिंह धामी ने कहा कि सभी लोगों से अनुरोध है कि इस स्थिति में धैर्य बनाकर रखें। हम हर संभव मदद करने के लिए तैयार हैं। प्रधानमंत्री ने हर संभव मदद का आश्वासन दिया है। मौसम विभाग ने बताया है कि आज देर रात तक मौसम ठीक हो जाएगा, बाद में स्थिति सामान्य हो जाएगी। आज 11 लोगों और कल 5 लोगों की मरने की खबर आई थी। कुछ लोगों की दबे होने की भी जानकारी आई है। जैसे-जैसे मौसम साफ होगा वैसे स्थिति का सही आंकलन होगा।

प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने मंगलवार को उत्तराखंड के मुख्यमंत्री पुष्कर सिंह धामी से बात की और मूसलाधार बारिश से प्रभावित राज्य की स्थिति के संबंध में जानकारी हासिल की। आधिकारिक सूत्रों ने बताया कि मुख्यमंत्री ने मोदी को राज्य की मौजूदा स्थिति के संबंध में जानकारी दी और बताया कि प्रशासन पूरी तरह सतर्क है। प्रधानमंत्री ने भी धामी को स्थिति से निपटने के लिए हर आवश्यक मदद का आश्वासन दिया। सूत्रों ने बताया कि मोदी ने केन्द्रीय मंत्री अजय भट्ट से भी इस संबंध में बात की। भट्ट उत्तराखंड के ही रहने वाले हैं।