Home पॉलिटिक्स रोहतक में बीजेपी प्रदेश कार्यालय के घेराव के दौरान आप नेताओं पर...

रोहतक में बीजेपी प्रदेश कार्यालय के घेराव के दौरान आप नेताओं पर सादे कपड़ों में किसने किया हमला? : डॉ. सुशील गुप्ता

नई दिल्ली। आम आदमी पार्टी के नेताओं ने दिल्ली उपमुख्यमंत्री मनीष सिसोदिया की गिरफ्तारी के विरोध में पूरे देश में शांतिपूर्ण प्रदर्शन किए थे। इस दौरान सोमवार को हरियाणा के रोहतक में बीजेपी के प्रदेश कार्यालय के शांतिपूर्ण घेराव के दौरान आम आदमी पार्टी नेताओं पर साजिश के तहत हमला किया गया। डंडों के साथ सिविल ड्रेस में व्यक्तियों ने आप नेताओं के सिर को निशाना बनाने की कोशिश की। महिला कार्यकर्ताओं के साथ दुर्व्यवहार किया गया।

ये बात आम आदमी पार्टी के राज्यसभा सांसद और प्रदेश प्रभारी डॉ. सुशील गुप्ता ने कही।वे मंगलवार को वरिष्ठ नेता अनुराग ढांडा के साथ दिल्ली फिरोजशाह रोड स्थित अपने निवास स्थान पर पत्रकार वार्ता में बोल रहे थे। उन्होंने कहा कि आम आदमी पार्टी के वरिष्ठ नेताओं को निशाना बनाने की साजिश की गई।

वरिष्ठ नेता अनुराग ढांडा ने कहा कि सादे कपड़ों में आम आदमी पार्टी कार्यकर्ताओं पर लाठीचार्ज करने वाले आखिर कौन व्यक्ति थे ? उन्होंने कहा कि क्या पुलिस इस मामले में तफ्तीश कर खुलासा करेगी कि पुलिस की शह पर आखिर कौन आप कार्यकर्ताओं पर लाठीचार्ज कर रहे हैं। उन्होंने आरोप लगाते हुए कहा कि क्या पुलिस के आड़ में बीजेपी और आरएसएस के गुंडों ने आप कार्यकर्ताओं पर हमला किया।

आप नेता अनुराग ढांडा ने पुलिस पर आरोप लगाते हुए कहा कि पुलिस अपने साथ बीजेपी और आरएसएस से संबंधित व्यक्तियों को लेकर आई थी। जिन्होंने आप आदमी पार्टी नेताओं और कार्यकर्ताओं पर जानलेवा हमला किया। उन्होंने कहा कि बीजेपी के तानाशाह रवैए के खिलाफ संघर्ष जारी रहेगा।

आप नेता अनुराग ढांडा कहा की हम मांग करते हैं कि एसएसपी इस मामले की तफ्तीश कर लाठीचार्ज करने वाले लोगों की पहचान सार्वजनिक करें और इस साजिश का पर्दाफाश करें।

इससे पूर्व, डॉ. सुशील गुप्ता ने कहा कि दिल्ली के शिक्षा मंत्री एवं उप मुख्यमंत्री मनीष सिसोदिया की गिरफ्तारी झूठे केस बना कर की गई है। उनको सीबीआई ने मनगढ़ंत कैसे बना कर गिरफ्तार किया गया है। सीबीआई उनके घर, उनके गांव, उनके बैंक लॉकर की तलाशी लेकर एक रुपया का आरोप मनीष सिसोदिया पर नहीं लगा सकी।

डॉ. सुशील गुप्ता ने कहा कि मनीष सिसोदिया को दिल्ली में दुनिया का सबसे बेहतरीन शिक्षा मॉडल देने, 4 लाख बच्चों का प्राइवेट स्कूल छुड़वाने और बच्चों का बेहतरीन भविष्य बनाने की सजा मिली है।

Exit mobile version