Women’s Day 2022 : महिला दिवस पर पीएम मोदी सहित पूरा देश दे रहा है महिलाओं को बधाई

स्त्री है, तो संसार है। दुनिया के लिए 8 मार्च बेहद खास दिन होता है, क्योंकि यह दिन महिलाओं के घर, समाज, संसार में दिए जाने वाले अमूल्य योगदान के सम्मान में यह दिन मनाया जाता है। यह दिन हर महिला के लिए बहुत खास होता है, संसार नारी के बिना अधूरा है। हम सबके जीवन में महिला की भूमिका में मां, बहन, बेटी, बहू होती है, जिनके बिना हम अधूरे होते है।

नई दिल्ली। महिला दिवस के दिन पर समूचा विश्व महिलाओं की शक्ति, साहस और सहनशीलता की सराहना कर रहा है। सरकारी और गैर-सरकारी कई प्रकार के आयोजन किए जा रहे हैं। वैश्विक पटल पर विभिन्न क्षेत्रों में प्रसिद्ध ऐसी ही महिलाओं की उपलब्धियों को सेलिब्रेट करने तथा पिछड़ी महिलाओं को प्रोत्साहित करने के उद्देश्य से हर साल 8 मार्च को सारी दुनिया में महिला दिवस मनाया जाता है।

प्रधानमंत्री श्री नरेन्द्र मोदी ने अंतर्राष्ट्रीय महिला दिवस पर नारी शक्ति का अभिनंदन किया है। श्रृंखलाबद्ध ट्वीट में प्रधानममंत्री ने कहा हैः “महिला दिवस पर, मैं नारी शक्ति और विभिन्न क्षेत्रों में उनकी उपलब्धियों का अभिनंदन करता हूं। भारत सरकार सम्मान और अवसरों पर बल देते हुये अपनी विभिन्न योजनाओं के माध्यम से महिला सशक्तिकरकण पर लगातार ध्यान देती रहेगी।” “वित्तीय समावेश से लेकर सामाजिक सुरक्षा, बेहतर स्वास्थ्य सुविधा से आवास, शिक्षा से लेकर उद्यमशीलता तक, भारत की विकास यात्रा में नारी शक्ति को अग्रिम मोर्चे पर रखने के लिये असंख्य प्रयास किये गये हैं। आने वाले समय में इन प्रयासों को और अधिक ऊर्जा के साथ जारी रखा जायेगा।”

बता दें कि अंतरराष्ट्रीय महिला दिवस 19 मार्च, 1911 में पहली बार ऑस्ट्रिया, डेनमार्क, जर्मनी और स्विटजरलैंड में मनाया गया और साल 1921 में महिला दिवस की तारीख को बदलकर 8 मार्च कर दिया गया। दरअसल प्रथम विश्वयुद्ध के दौरान 1917 में रूस की महिलाओं ने रूस के शासक से ब्रेड एंड पीस की मांग की थी। इसके लिए हजारों महिलाओं ने सेंट पीटर्सबर्ग में मार्च निकाला। इस आंदोलन ने सम्राट निकोलस को पद छोड़ने के लिए मजबूर कर दिया और अंतरिम सरकार से रूस में जिस समय महिलाओं को वोट का अधिकार प्राप्त हुआ तब जूलियन कैलेंडर प्रचलन में था वहीं बाकी दुनिया में ग्रेगेरियन कैलेंडर चलता था। जूलियन कैलेंडर में 1917 की वह तारीख 23 फरवरी थी वहीं ग्रेगेरियन कैलेंडर के अनुसार उस दिन 8 मार्च था, इसलिए पूरी दुनिया में महिला दिवस 8 मार्च को मनाया जाने लगा।

मध्य प्रदेश में अंतरराष्ट्रीय महिला दिवस पर मुख्यमंत्री शिवराज सिंह चौहान की सुरक्षा की ज़िम्मेदारी महिला पुलिसकर्मी को दी गई। मुख्यमंत्री शिवराज सिंह चौहान ने कहा, “700 थानों में महिला हेल्प डेस्क बनाए गए हैं। कर बता सकती हैं। थानों में स्कूटी की व्यवस्था की गई जिससे महिला पुलिसकर्मी तुरंत घटनास्थल पर जा सके।”