Home बिजनेस ज़ोमैटो ने डिलीवरी पार्टनर्स के लिए लगाए जागरुकता शिविर

ज़ोमैटो ने डिलीवरी पार्टनर्स के लिए लगाए जागरुकता शिविर

ज़ोमैटो का उद्देश्य है कि उनका कोई भी डिलीवरी पार्टनर इस स्कीम के अंतर्गत प्लेटफॉर्म अर्थव्यवस्था में भाग लेने से छूट न जाए।

नई दिल्ली। भारत के फूड डिलीवरी प्लेटफॉर्म, ज़ोमैटो ने नई दिल्ली में अपने डिलीवरी पार्टनर्स के बीच दिल्ली मोटर वैहिकल एग्रीगेटर और डिलीवरी सर्विस स्कीम, 2023 (‘‘स्कीम’’) की जागरुकता बढ़ाने के लिए एक व्यापक अभियान चलाया है। इस स्कीम में कैब एग्रीगेटर्स, डिलीवरी सर्विस प्रोवाईडर और ई-कॉमर्स संस्थाओं से जुड़े सभी वाहनों का खुलासा करना होगा, और इन वाहनों के लिए ईवी लक्ष्यों को पूरा करने का नियम बनाना होगा। नई दिल्ली में आयोजित इन जागरुकता अभियान शिविरों में कंपनी डिलीवरी पार्टनर्स के वाहन का विवरण ले रही है, ताकि उन्हें सरकार के पोर्टल पर रजिस्टर कराया जा सके। कंपनी का उद्देश्य है कि उनका कोई भी डिलीवरी पार्टनर इस स्कीम के अंतर्गत प्लेटफॉर्म अर्थव्यवस्था में भाग लेने से छूट न जाए।

इस प्रस्तावित स्कीम के अंतर्गत सभी एग्रीगेटर्स और सर्विस प्रदाताओं को 14 जून, 2024 तक (जीएनसीटीडी द्वारा अधिसूचित पोर्टल पर) इस्तेमाल हो रहे सभी ऑन-बोर्डेड वाहनों की घोषणा करनी होगी। जहाँ इससे पहले डिलीवरी सर्विस प्रदाताओं को वाहन का डेटा एकत्रित नहीं करना पड़ता था, वहीं इस स्कीम के अंतर्गत एग्रीगेटर या डिलीवरी सर्विस प्रदाता से जुड़े सभी मौजूदा वाहनों की घोषणा करने की अंतिम तिथि 14 जून, 2024 है। इसके बाद घोषित न किए गए किसी भी वाहन को दिल्ली में चलने की इजाजत नहीं दी जाएगी।

अभी तक 14 जून, 2024 की अंतिम तिथि तक अनुपालन और कोई भी डिलीवरी पार्टनर बचा न रह जाए, यह सुनिश्चित करने के लिए ज़ोमैटो ने पिछले कुछ दिनों में दिल्ली में अलग-अलग स्थानों पर 15 शिविर लगाए हैं। कंपनी ने अधिसूचनाओं, कॉल्स, मैसेजेस द्वारा जागरुकता अभियान चलाकर शहर में हजारों डिलीवरी पार्टनर्स से संपर्क किया है।
पिछले कुछ सालों में गिग वर्क लोगों के लिए अतिरिक्त आय निर्माण का एक पसंदीदा स्रोत बन गया है क्योंकि इससे उन्हें काम करने की फ्लेक्सिबिलिटी और कल्याणकारी प्रावधान उपलब्ध होते हैं। ज़ोमैटो ने पिछले छः सालों में देश के सभी राज्यों में 24 लाख से ज्यादा गिग कर्मचारियों को आय के अवसर प्रदान किए हैं, जिनमें 27,000 से ज्यादा महिलाएं और 300 से ज्यादा दिव्यांग नागरिक शामिल हैं।

कंपनी सभी पात्र डिलीवरी पार्टनर्स को 10 लाख रुपये तक के एक्सीडेंटल डेथ कवर के साथ व्यक्तिगत दुर्घटना बीमा पॉलिसी प्रदान करती है, जिसके अंतर्गत उन्हें दुर्घटनाओं के कारण स्थायी पूर्ण विकलांगता और स्थायी आंशिक विकलांगता के लिए बीमा सुरक्षा प्राप्त होती है। कंपनी सभी पात्र डिलीवरी पार्टनर्स को स्वास्थ्य बीमा पॉलिसी भी प्रदान करती है, जिसमें 1 लाख रुपये तक के कवरेज के साथ डिलीवरी पार्टनर्स के लिए आईपीडी/हॉस्पिटलाईज़ेशन एवं डे केयर और आईसीयू कवरेज, ओपीडी, टेली कंसल्टेशन एवं ऑनलाईन कंसल्टेशन शामिल है। इन दुर्घटना बीमा पॉलिसी और स्वास्थ्य बीमा पॉलिसी के लिए प्रीमियम का खर्च ज़ोमैटो द्वारा दिया जाता है।

इसके अलावा यदि नॉन-एक्सीडेंटल समस्याओं, जैसे मलेरिया, डेंगू, चिकनगुनिया, टायफायड, पल्मोनरी ट्यूबरकुलोसिस, मेनिंजाईटिस, आदि के कारण डिलीवरी करना संभव नहीं है, तो उस स्थिति में ज़ोमैटो द्वारा आय सुरक्षा कवर प्रदान किया जाता है। ज़ोमैटो ने उद्योग में पहली बार मैटरनिटी इंश्योरेंस पेश किया है, जो बच्चे को जन्म देने और गर्भ की समस्याओं (जैसे गर्भपात) आदि के लिए 40,000 रुपये तक का कवरेज प्रदान करता है। ये सभी बीमा योजनाएं निजी बीमा प्रदाता द्वारा दी जाती हैं, और इनके प्रीमियम का पूरा खर्च केवल ज़ोमैटो द्वारा दिया जाता है।

 

 

 

 

 

 

 

 

 

 

 

 

 

Exit mobile version