UP Assembly Election 2022 : मेरठ में मंगल पांडे को दी श्रद्धांजलि, विरोधियों पर बरसे पीएम मोदी

मेरठ की स्पोर्ट्स यूनिवर्सिटी मेजर ध्यानचंद जी को समर्पित की जा रही है। मेजर ध्यानचंद के नाम में शब्द है ध्यान। बिना ध्यान के सफलता नहीं मिलती इसलिए जिस यूनिवर्सिटी का नाम ध्यानचंद से जुड़ा हो वहां ध्यान से काम करने वाले देश का नाम रोशन करेंगे यह मुझे पक्का विश्वास है।

मेरठ। प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने रविवार को यहां 1857 के प्रथम स्वतंत्रता संग्राम के नायक मंगल पांडे की प्रतिमा पर पुष्पांजलि अर्पित की। पांडे ब्रिटिश ईस्ट इंडिया कंपनी की 34वीं बंगाल नेटिव इन्फैंट्री (बीएनआई) रेजिमेंट में सिपाही (इन्फैंट्रीमैन) थे। उन्होंने 1857 में अंग्रेजों के खिलाफ विद्रोह कर दिया था। मोदी ने शहीद स्मारक स्थित संग्रहालय का अवलोकन भी किया।

उत्तर प्रदेश के मेरठ के दौरे पर पहुंचे प्रधानमंत्री यहां औघड़नाथ मंदिर में पूजा करने के बाद शहीद स्मारक पहुंचे और देश के लिए जान कुर्बान करने वाले शहीदों को श्रद्धांजलि दी। मोदी ने उत्तर प्रदेश की राज्यपाल आनंदीबेन पटेल तथा मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ के साथ मंदिर में पूजा-अर्चना की और इसकी परिक्रमा की।

मेरठ छावनी स्थित यह मंदिर भगवान शिव को समर्पित है। ब्रिटिश शासनकाल में भारतीय सैनिकों को काली पलटन कहा जाता था। इसी मंदिर के आस-पास भारतीय सैनिक रहते थे और इसके चलते इस मंदिर को काली पलटन मंदिर के नाम से पुकारा जाने लगा।

ऐसा कहा जाता है कि ब्रिटिश हुकूमत के दौरान भारतीय सैनिक औघड़नाथ मंदिर में पानी पीने के लिए आते थे, लेकिन मंदिर के पुजारियों ने भारतीय सैनिकों के मंदिर में मौजूद कुएं से पानी पीने का विरोध किया, क्योंकि वे जिन कारतूसों का इस्तेमाल करते थे, उनमें गाय की चर्बी मिली होती थी। इसी के बाद यहीं से अंग्रेजी हुकूमत के खिलाफ भारतीय सैनिकों में विद्रोह की ज्वाला भड़की थी और 1857 की क्रांति की शुरुआत हुई थी।

अपने संबोधन में प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने कहा कि उत्तर प्रदेश अब गन्ने से बनने वाले एथेनॉल के उत्पादन में भी तेज़ी से आगे बढ़ रहा है। बीते साढ़े चार साल में लगभग 12,000 करोड़ रुपए का एथेनॉल उत्तर प्रदेश से खरीदा गया है।सरकारों की भूमिका अभिभावक की तरह होती है। योग्यता होने पर बढ़ावा भी दे और गलती होने पर यह कहकर ना टाल दे कि लड़कों से गलती हो जाती है। खेल से जुड़ी सर्विस और सामान का वैश्विक बाज़ार लाखों करोड़ों रुपए का है। मेरठ से ही अभी 100 से अधिक देशों को स्पोर्ट्स का सामान निर्यात होता है। मेरठ लोकल के लिए वोकल तो है ही। लोकल को ग्लोबल भी बना रहा है।

प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने कहा कि पहले की सरकारों में UP में अपराधी और माफिया अपना खेल खेलते थे। पहले बेटियों पर फब्तियां कसने वाले खुलेआम घूमते थे। मेरठ और आसपास के लोग भूल नहीं सकते कि पहले उनके घर जला दिए जाते थे। लोग अपना पुश्तैनी घर छोड़कर पलायन के लिए मज़बूर हो गए थे। अब योगी आदित्यनाथ की सरकार ऐसे अपराधियों के साथ जेल-जेल खेल रही है। पांच साल पहले इसी मेरठ की बेटियां शाम होने के बाद अपने घर से निकलने से डरती थीं। आज मेरठ की बेटियां पूरे देश का नाम रौशन कर रही हैं।