टाटा मोटर्स ने शुरू की ऐस ईवी की डिलीवरी,लास्‍ट-माइल डिलीवरी में होगा नये युग का आगाज़

नई दिल्‍ली। भारत में कमर्शियल व्‍हीकल बनाने वाली सबसे बड़ी कंपनी टाटा मोटर्स ने आज नये ऐस ईवी (इलेक्ट्रिक वाहन) की डिलीवरी शुरू करके इंट्रा-सिटी कार्गो ट्रांसपोर्ट के लिये परिवहन के स्‍थायी समाधान प्रदान करने की दिशा में एक महत्‍वपूर्ण कदम बढ़ाया है। ऐस ईवी भारत का सबसे एडवांस्‍ड, शून्‍य-उत्‍सर्जन करने वाला, फोर-व्‍हील का छोटा कमर्शियल वाहन है। क्रांतिकारी ऐस ईवी का पहला बेड़ा अग्रणी ई-कॉमर्स, एफएमसीजी और कुरियर कंपनियों तथा उनके लॉजिस्टिक्‍स सेवा प्रदाताओं जैसे कि अमेज़न, डिल्‍हीवरी, डीएचएल (एक्‍सप्रेस एवं सप्‍लाई चेन), फेडएक्‍स, फ्लिपकार्ट, जॉन्‍सन एण्‍ड जॉन्‍सन कंज्‍यूमर हेल्‍थ, मूविंग, सेफेक्‍सप्रेस और ट्रेंट लिमिटेड को दिया गया है।
नये ऐस ईवी को मई 2022 में पेश किया गया था और इसे इनके यूजर्स के साथ मिलकर विकसित किया गया था और इसने बाजार के असली कठोर परीक्षणों को सफलतापूर्वक पूरा किया है। काफी मेहनत से तैयार किये गये एक इकोसिस्‍टम से समर्थित ऐस ईवी परेशानी से मुक्‍त ई-कार्गो परिवहन के लिये एक संपूर्ण समाधान और 5 साल के व्‍यापक मैंटेनेन्‍स पैकेज के साथ आता है। 100% अपटाइम के साथ इसके मजबूत प्रदर्शन को ग्राहकों से बहुत अच्‍छी प्रतिक्रिया मिली है। ऐस ईवी के सहायक इकोसिस्‍टम में चार्जिंग के बुनियादी ढांचे का विकास और स्‍थापना, बेड़े के अधिकतम अपटाइम के लिये समर्पित इलेक्ट्रिक व्‍हीकल सपोर्ट सेंटर्स की स्‍थापना, बेड़े के बेहतरीन प्रबंधन के लिये अगली पीढ़ी के समाधान टाटा फ्लीट एज की स्‍थापना, टाटा समूह की संबद्ध कंपनियों के सक्षम बनाने वाले और प्रमाणित इकोसिस्‍टम टाटा यूनिईवर्स का समर्थन, और वित्‍तपोषण के लिये देश के अग्रणी फाइनेंसर्स के साथ भागीदारियाँ शामिल हैं।
ऐस ईवी के पहले बेड़े को हरी झंडी दिखाते हुए, टाटा मोटर्स के कार्यकारी निदेशक श्री गिरीश वाघ ने कहा, “भारत की सड़कों पर ऐस ईवी का आना शून्‍य-उत्‍सर्जन वाले कार्गो परिवहन के सफर में एक बड़ा कदम है। हमारे भागीदारों के साथ मिलकर बनाया गया यह संपूर्ण समाधान अंतर्शहरी वितरण की विभिन्‍न जरूरतों को प्रभावी तरीके से पूरा करता है और सभी साझीदारों को शानदार मूलय प्रस्‍ताव प्रदान करता है। अपने ग्राहकों के भरोसे और समर्थन के लिये हम आभारी हैं। ऐस ईवी को मिली प्रोत्‍साहक प्रतिक्रिया हमें स्‍थायी परिवहन के लिये अपने प्रयासों को गति देने और नेट-ज़ीरो से जुड़ी देश की आकांक्षाओं में सहयोग देने के लिये प्रेरित करती है।”