UP Assembly Election 2022 : मिशन यूपी में लग चुके हैं भाजपा के बड़े नेता और कई केंद्रीय मंत्री

उत्तर प्रदेश को सीएम योगी और पीएम नरेंद्र मोदी ही नहीं, बल्कि भाजपा के बड़े नेता और केंद्रीय मंत्री अपने दौरों से यह बता रहे हैं कि राज्य चुनावी मोड में आ चुका है। भाजपा नेता जनसभाओं में कहते हैं कि 100 वर्ष पूर्व काशी की गलियां कितनी तंग थीं। काशी विश्वनाथ धाम में गंदगी फैली रहती थी। लेकिन आज देखिए काशी अपने दिव्य व भव्य स्वरूप में आप सबके सामने है।


नई दिल्ली।
अगले साल उत्तर प्रदेश विधानसभा चुनाव में भाजपा को जीत दिलाने के लिए और मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ की कुर्सी बचान के लिए पार्टी के तमाम बड़े नेता राज्य में आते हैं। जनसभा करते हैं और सीएम योगी आदित्यनाथ की प्रशंसा करते हैं। इसके साथ ही पूर्व की गैर-भाजपा सरकार के नीति और नीयत पर सवाल उठाते हैं। स्वयं प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी हाल के दिनों में राज्य की कई यात्राएं और जनसभाओं को संबोधित कर चुके हैं। अरबों रूपये के नई परियोजनाओं की बात की जा चुकी है।


उसी क्रम में रविवार को उत्तर प्रदेश के बिजनौर में जन आशीर्वाद यात्रा में केंद्रीय मंत्री नितिन गडकरी ने कहा कि अभी चुनाव की महाभारत की शुरुआत होने वाली है, महाभारत में हमें ये दिखाया गया है​ कि आपको सत्य या असत्य, नैतिकता या अनैतिकता, समाज के कल्याण के मार्ग पर जाना है या गुंडागर्दी और विनाश के मार्ग पर जाना है।


अम्बेडकर नगर में जन विश्वास यात्रा में बीजेपी अध्यक्ष जे.पी.नड्डा ने कहा कि महिलाओं के विवाह की उम्र को 18 से 21 करने का फैसला किया जा रहा है लेकिन सपा के सांसदों ने इस पर गैर जिम्मेदाराना वक्तव्य दिया। ये वक्तव्य महिला सशक्तिकरण के खिलाफ था और अखिलेश यादव ने इसका बचाव किया। उन्होंने अंबेडकरनगर को प्रभु श्री राम की धरती बताया और जय श्री राम का जयकारा भी लगवाया। उन्होंने कहा कि वह श्री राम की धरती और डॉ. राम मनोहर लोहिया की जन्म भूमि को नमन करते है। यहां उपस्थित भीड़ इस बात की गवाह है कि देश और यूपी में भाजपा ने जनता का भरपूर विश्वास हासिल किया है। इसी जन वश्विास के जरिए यूपी में भाजपा दोबारा सत्ता हासिल करेगी।