टाटा मोटर्स ने ऐक्सिस बैंक से की साझेदारी

साझेदारी के लिए हुए समझौता ज्ञापन (एमओयू) पर टाटा मोटर्स पैसेंजर व्‍हीकल लिमिटेड और टाटा पैसेंजर इलेक्ट्रिकल मोबिलिटी लिमिटेड के प्रबंध निदेशक श्री शैलेश चंद्रा और ऐक्सिस बैंक के ग्रुप एक्जिक्यूटिव और हेड- रिटेल लेंडिंग एंड पेमेंट्स श्री सुमित बाली ने हस्ताक्षर किए। इस मौके पर दोनों कंपनियों के वरिष्ठ अधिकारी भी मौजूद थे।

नई दिल्ली। त्‍योहारी सीजन खास बनाने की कोशिश मेंटाटा मोटर्स ने निजी क्षेत्र में ऐक्सिस बैंक के साथ साझेदारी की है। इस साझेदारी के तहत, कंपनी अपने अधिकृत यात्री इलेक्ट्रिक वाहनों के डीलरों को एक्सक्लूसिव इलेक्ट्रिक व्‍हीकल डीलर फाइनेंसिंग का समाधान उपलब्ध कराएगी। इस योजना के तहत, डीलर रेपो लिंक्ड लेंडिंग रेट (आरएलएलआर) से जुड़े आकर्षक मूल्य के साथ अपनी आईसीई फाइनेंस सीमा से अधिक इन्वेट्री फंडिंग का लाभ उठा सकते हैं। ॠण को चुकाने की अवधि 60 से 75 दिन की होगी। इसके साथ ही बैंक उच्च मांग वाले चरणों में अतिरिक्त सीमा की भी पेशकश कर रहा है, जो एक साल में 3 बार डीलरों को उपलब्ध कराई जाएगी।

टाटा मोटर्स पैसेंजर्स व्हीकल्स लिमिटेड में नेटवर्क मैनेजमेंट एंड ईवी सेल्स के सीनियर जनरल मैनेजर श्री रमेश दोहराईराजन ने इस फाइनेंस स्कीम की शुरुआत पर कहा, “हम अपने अधिकृत इलेक्ट्रिक यात्री वाहनों के डीलरों के लिए इस एक्सलूसिव फाइनेंसिंग प्रोग्राम के लिए ऐक्सिस बैंक से जुड़कर बेहद उत्साहित हैं। हमारे डीलर देश में बड़े पैमाने पर इलेक्ट्रिक वाहनों को अपनाने के लिए प्रेरित करने के हमारे सफर में कंधे से कंधा मिलाकर चल रहे हैं। हम काफी निश्चिंत है कि हमारी इस पहल से ग्रीन मोबिलिटी के लक्ष्‍य को हासिल करने और देश के मोबिलिटी सेक्‍टर में सस्‍टेनेबिलिटी को बढ़ावा देने के हमारे दृष्टिकोण को सहयोग मिलेगा।”

ऐक्सिस बैंक में ग्रुप एक्जिक्यूटिव और हेड- रिटेल लेंडिंग और पेमेंट्स, श्री सुमित बाली ने कहा, “ऐक्सिस बैंक में हम ग्रीन मोबिलिटी के वित्‍तीय समाधानों को बढ़ावा देने के लक्ष्य को लेकर वचनबद्ध हैं। हम टाटा मोटर्स से जुड़कर और उनके यात्री इलेक्ट्रिक वाहन के डीलरों के लिए खासतौर से फाइनेंसिंग प्रोग्राम की पेशकश करके बेहद खुश हैं। उद्योग में पहली बार लाए गए इस समाधान से बैंक को नई उपभोक्ता श्रेणी में अपना विस्तार करने की इजाजत मिलेगी। इसके साथ ही उपभोक्‍ताओं की वित्तीय जरूरतों भी पूरी होंगी। हमारा विश्वास है कि इलेक्ट्रिक वाहन का बाजार काफी तेजी से बढ़ेगा और यह साझेदारी से इस वृद्धि में उल्‍लेखनीय रूप से योगदान करने में लंबा सफर तय करेगी।”

टाटा मोटर्स अपने अग्रणी प्रयासों से भारतीय ऑटोमोटिव बाजार में महत्‍वपूर्ण बदलाव कर रहा है और देश में ई-मोबिलिटी की लहर लाने में यह सबसे आगे है। कंपनी की वित्त वर्ष 2022 में इस क्षेत्र में 87 प्रतिशत की जबर्दस्‍त बाजार हिस्‍सेदारी रही है और इस समय व्यक्तिगत और बेड़े की श्रेणी में 30,000 से ज्यादा टाटा के इलेक्ट्रिकल वाहन सड़कों पर दौड़ रहे हैं।