Delhi News : जहांगीरपुरी में अभी भी है लोगों में खौफ, पुलिसिया कार्रवाई में 9 की हुई गिरफ्तारी

नई दिल्ली। राजधानी दिल्ली के जहांगीरपुरी में शनिवार को हुई हिंसा के बाद रविवार की सुबह भी लोग डरे सहमे हैं। पुलिस की गश्त जारी हैं। कई गलियों में पुलिस और सुरक्षा बलों की चहलकदमी है। बावजूद इसके लोगों के मन में खौफ है। पुलिसिया कार्रवाई जारी है। डीसीपी नॉर्थ-वेस्ट उषा रंगनानी ने कहा कि जहांगीरपुरी हिंसा में अब तक 9 आरोपी गिरफ़्तार हुए। 8 पुलिसकर्मियों और 1 नागरिक सहित 9 लोग घायल हो गए और अस्पताल में उनका इलाज किया गया। एक सब-इंस्पेक्टर को गोली भी लगी है, उनकी हालत स्थिर है।

जहांगीरपुरी में तैनात इंस्पेक्टर राजीव रंजन ने कहा कि जुलूस शांतिपूर्ण तरीके से चल रहा था, जैसे ही जुलूस C-ब्लॉक मस्जिद के पास पहुंचा तो एक व्यक्ति अपने 4-5 अन्य लोगों के साथ जुलूस में शामिल लोगों से बहस करने लगा। बाद में दोनों ओर से पथराव शुरू हो गया। FIR में इंस्पेक्टर राजीव रंजन का बयान है कि धार्मिक जुलूस की सुरक्षा में तैनात पुलिस ने दोनों गुटों को अलग कर दिया लेकिन, कुछ देर के बाद दोनों पक्षों में झड़प हो गई। हनुमान जयंती के मौके पर पथराव कर सांप्रदायिक तनाव पैदा करने की कोशिश की गई थी।

बता दें कि जहांगीरपुरी में कल एक धार्मिक जुलूस के दौरान दो समुदाय के बीच हुए टकराव के बाद सुरक्षाबलों की तैनाती की गई। स्थानीय लोगों के अनुसार झड़प के दौरान 6 राउंड गोली चली थी, लेकिन पुलिस ने इसकी पुष्टि नहीं की है। अभी तक इस मामले में पुलिस ने 15 लोगों को हिरासत में लिया है इस पूरी घटना की पुलिस ने शनिवार रात को ही जांच शुरू कर दी है। तकरीबन 15 लोगों को घटना के बाद हिरासत में लेकर उनसे पूछताछ की जा रही है। वहीं इलाके पर नजर रखने के लिए पुलिस ड्रोन का इस्तेमाल कर रही है और यह जानने की कोशिश कर रही है कि क्या किसी की छत पर पत्थर रखे गए हैं।

जहांगीरपुरी हिंसा पर पूर्वी दिल्ली से BJP सांसद गौतम गंभीर ने कहा कि शोभायात्रा पर हुआ पथराव बहुत ही दुखदायी है और ये दिल्ली की सोच और दिल्ली के कल्चर के खिलाफ है। मैं सभी लोगों से अपील करता हूं कि शांति बनाए रखिए और दोषियों को कड़ी से कड़ी सजा मिलनी चाहिए।