देश में ओमीक्रॉन का बढ़ रहा है खौफ, कोविड वैक्सीन भी हो सकती है बेअसर

भारत में कोविड टीकाकरण अभियान जारी है। इसके बीच कोरोना का नए वैरिएंट आ चुका है। कई मामले पाए गए हैं। इसके बीच कोविड टास्क फोर्स के प्रमुख डॉ वीके पॉल ने कहा कि भविष्य में हमारी वैक्सीन की क्षमता कमजोर पड़ सकती है और नए वेरिएंट्स के खतरे को देखते हुए हमें नए टीके की जरूरत पड़ सकती है।


नई दिल्ली।
राजधानी दिल्ली सहित कई राज्यों में ओमीक्रॉन के मामले बढ़ रहे हैं। कोरोना के दैनिक संक्रमण के मामले भी अभी हजार में हैं। लोगों को कोविड टीकाकरण के लिए जागरूक किया जा रहा है। सरकारी मशीनरी सभी वयस्क को कोविड वैक्सीन लगाने के लिए काम कर रही है। इसके बीच स्वास्थ्य विशेषज्ञों को यह चिंता है कि ओमीक्रॉन वायरस अब तक के वैक्सीन को बेअसर कर सकती है।
बुधवार को नीति आयोग के सदस्य डॉ वीके पॉल ने कहा है कि जो मौजूदा हालात और संभावित परिदृश्य है उससे उभरती परिस्थितियों में हमारे टीके अप्रभावी हो सकते हैं इसलिए जरूरत के हिसाब से टीकों को संशोधित होना चाहिए। उन्होंने कहा कि हमें कोरोना से निपटने के लिए दवा के विकास और एक और अधिक ठोस दृष्टिकोण की आवश्यकता है और इसके लिए विज्ञान के क्षेत्र में निवेश बढ़ाना चाहिए।
बता दें कि भारत में अभी तक ओमिक्रॉन के 61 मामले सामने आ चुके हैं, जिसमें सबसे ज्यादा 28 केस महाराष्ट्र में मिले हैं, तो वहीं राजस्थान में 17, कर्नाटक में 3, गुजरात में 4, केरल में 1 और आंध्रप्रदेश में 1, दिल्ली में 6 और चंडीगढ़ में 1 केस सामने आया है।
केंद्रीय स्वास्थ्य एवं परिवार कल्याण मंत्रालय की ओर से जारी आंकड़ों के अनुसार, भारत में पिछले 24 घंटों में 6,984 नए कोविड मामले, 8,168 रिकवरी और 247 मौतें दर्ज़ की गई।