क्या कोरोना के कहर के बीच सफल होगा ओलंपिक

ओलंपिक विलेज में कोरोना संक्रमण की पुष्टि हो गई है। सुरक्षा और स्वास्थ्य को लेकर तमाम कदम उठाए जा रहे हैं। आयोजन समिति के लिए इसके प्रसार को रोकना बेहद चुनौती भर काम है।

टोक्यो। पूरी दुनिया को अपने कहर से डराने वाली कोरोना का पहला केस ओलंपिक विलेज में हो गई है। इससे तमाम खिलाड़ी सहमे हैं। कई देशों के दल ने अपने खिलाड़ियों को लेकर विशेष सतर्कता बरतना शुरू कर दिया है। ओलंपिक आयोजन समिति के लिए भी यह चिंता का कारण बनया है।

सबसे बड़ी दिक्कत यह है कि टोक्यो शहर में होने वाले ओलंपिक खेलों के शुरू होने में अब एक हफ्ते से भी कम का समय शेष रह गया है। खेल गांव में एक व्यक्ति कोरोना पॉजिटिव पाया गया है। कुछ और संदेह के घेरे में हैं। जैसे ही यह सूचना बाहर आई उसके बाद कई लोग सकते में आ गए हैं।

मीडिया में जब यह जानकारी आई तो सवाल किए जाने लगे। उसके बाद टोक्यो 2020 के सीईओ तोशीरो मुटो की ओर से इसकी पुष्टि की गई है। उन्होंने कहा कि खेलों के आयोजन में शामिल विदेश से आया एक व्यक्ति कोरोना पॉजिटिव पाया गया है। इसके साथ ही उन्होंने कहा कि अभी के समय में थोड़ी गोपनीयता जरूरी है। इसिलए आयोजन समिति ने सार्वजनिक रूप से इस खिलाड़ी की राष्ट्रीयता का खुलासा नहीं किया।

इससे पहले आयोजकों ने बीते गुरुवार को जानकारी दी थी कि जापान में एक एथलीट और पांच ओलंपिक वर्कर कोरोना पॉजिटिव पाए गए हैं। उस समय भी नाम सार्वजनिक नहीं किया गया था।