Ludhiana Bomb Blast : लुधियाना बम ब्लास्ट में साजिश की आशंका, शुरू हो चुकी राजनीतिक बयानबाजी

राष्ट्रीय सुरक्षा गार्ड (एनएसजी) की एक टीम ने लुधियाना ज़िला न्यायालय परिसर में जांच के लिए विस्फोट स्थल का दौरा किया है। इस घटना में एक व्यक्ति की मौत हुई है और पांच लोग घायल हैं।

नई दिल्ली। पंजाब में विधानसभा चुनाव का माहौल बन चुका है। इसके बीच लुधियाना कोर्ट में बम ब्लास्ट की घटना हुई। तुरंत पंजाब सरकार और केंद्र सरकार की ओर से जांच शुरू कर दी गई है। तमाम सुरक्षा एजेंसियों को जरूरत के हिसाब से लगा दिया गया है। उसके बीच इसे राजनीतिक नेताओं द्वारा साजिश की नजर से भी देखा रहा है।

दिल्ली के मुख्यमंत्री और आम आदमी पार्टी के नेता अरविंद केजरीवाल ने कहा कि अभी कुछ दिन पहले बेअदबी की घटना हुई थी और उसके कुछ दिन बाद ही ब्लास्ट हो गया। जनता को लग रहा है कि चुनाव के ठीक पहले इस तरह की घटनाएं साजिश के तहत पंजाब का माहौल खराब करने के लिए की जा रही हैं।

लुधियाना कोर्ट में हुए धमाके पर लुधियाना पुलिस ​कमिश्नर गुरप्रीत सिंह भुल्लर ने कहा कि कोर्ट में हुई घटना में 1 व्यक्ति की मौत हुई है। 6 घायल लोग अभी ठीक हैं। NSG टीम, पंजाब फॉरेंसिक टीम और अन्य एक्सपर्ट्स मौके पर पहुंचेंगे। पुलिस जांच में कुछ तथ्य मिले हैं जिनको लेकर कार्रवाई की जा रही है।
पंजाब कांग्रेस के अध्यक्ष नवजोत सिंह सिद्धू ने कहा कि पौने पांच साल सब कुछ ठीक था, जब एक-दो महीने( पंजाब चुनाव के) रह जाते हैं तो बेअदबी, फिर बेअदबी और अब ये जघन्य अपराध। ये कौन सी लड़ाई है? जिस लड़ाई में राजा की जान को खतरा न हो वो लड़ाई नहीं राजनीति है।


वहीं, लुधियाना ज़िला न्यायालय में हुए विस्फोट में घायलों से मुलाक़ात के बाद पंजाब भाजपा अध्यक्ष अश्वनी शर्मा ने कहा कि आज पंजाब में कांग्रेस की सरकार है। जनता जवाब मांगती है कि अगर सरकार को इस बात का अनुमान था, केंद्रीय एजेंसियों ने भी आगाह किया था। फिर सरकार का सिस्टम क्यों चरमरा गया। ये एक प्रश्न खड़ा करता है कि कांग्रेस को, मुख्यमंत्री जी को अपने फोटो लगवाने से, बयानबाजी करने से समय मिले तो जनता का ध्यान रखे।